फ्रांस के पार्क को साफ रख रहे हैं छह कौवे, गंदगी न फैलाने की दे रहे सीख

फ्रांस के पार्क को साफ रख रहे हैं छह कौवे, गंदगी न फैलाने की दे रहे सीख

गंदगी देखते ही उसे अपनी चोंच और पंजों से उठाकर कूड़ेदान में डाल देते हैं

पेरिस। शायद ऐसा पहली बार होगा जब एक पार्क को साफ करने की जिम्मेदारी कुछ पक्षियों को दी गई हो। ऐसा ही एक मामला फ्रांस के ऐतिहासिक थीम पार्क का है। इसे साफ रखने की जिम्मेदारी छह कौवों को दी गई है। ये कौवे रोजना पार्क के आसपास मंडराते रहते हैं और कहीं भी गंदगी देखते ही उसे अपनी चोंच और पंजों से उठा लेते हैं। इन्हें गंदगी उठाने की ट्रेनिंग तक दी गई है। ये कौवे पार्क में पड़े सिगरेट बट तक को उठाकर कूड़ेदान में फेंक कर आते हैं।

छोटे-छोटे टुकड़े उठाकर डिब्बे में डालते हैं

इन कौवों को बकायदा ट्रेनिंग दी गई है। यह कौवे पार्क की घास में छोटे आकार और कम भार वाले कूडे को उठा लेते हैं। ये कौवे कचरे के छोटे-छोटे टुकड़े उठाकर डिब्बे में डालते हैं, जिसके बदले उन्हें उसी डिब्बे से कुछ खाने का सामान मिलता है। इन कौवों को फ्रांस के पीडुफू पाक में पीछले सप्ताह से रखा गया है।

इन कौवों को प्रशिक्षिण दिया गया

कौवों की ट्रेनिंग देने वाले निकोलस डी विलियर्स के अनुसार उनका मकसद सिर्फ सफाई नहीं है। वे चाहते है कि लोग खुद इसका अनुभव करें की प्रकृति भी सफाई चाहती है। पर्यावरण को साफ सुथरा रखने के लिए सबकों अपना योगदान देना जरूरी है। उनका कहना है कि पार्क में अकसर लोग घूमने जाते हैं और जगह—जगह गंदगी फैलाते हैं। इसे रोकने के लिए उन्होंने इन कौवों को प्रशिक्षिण दिया है। उन्होंने आगे कहा कि कौवों को उनकी बुद्धमता की वजह से ही खासतौर पर इस काम के लिए रखा गया है। उन्हें मनुष्यों से संचार करना अच्छा लगता है और कौवे खेल-खेल में मनुष्यों से रिश्ता बना लेते हैं।'
बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब कौवों ने इस तरह की बुद्धिमता दिखाई हो। इसी साल जून में यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज के वैज्ञानिकों ने एक वेंडिंग मशीन बनाई थी, जिससे समस्याओं को सुलझाने की पक्षियों की क्षमता दिखती थी।

Ad Block is Banned