Guatemala: 2021 के बजट में कटौती का भारी विरोध, प्रदर्शनकारियों ने संसद भवन में लगाई आग

HIGHLIGHTS

  • Guatemala Massive Protest: सरकार ने 2021 के बजट में शिक्षा और स्वास्थ्य के मद में कटौती की है, जिसके खिलाफ लोग एतराज जता रहे हैं।
  • शनिवार को बजट की मंजूरी के विरोध में लगभग सात हजार प्रदर्शनकारी राजधानी ग्वाटेमाला सिटी में नेशनल पैलेस के सामने प्रदर्शन कर रहे थे।

ग्वाटेमाला सिटी। मध्य अमरीकी देश ग्वाटेमाला ( Central American country Guatemala ) में सरकार के खिलाफ लोगों का गुस्सा इस कदर भड़का कि प्रदर्शनकारियों ने संसद भवन में आग लगा दी। बताया जा रहा है कि सरकार की नीतियों के खिलाफ लोग सड़कों पर उतर आए हैं और व्यापक प्रदर्शन कर रहे हैं।

दरअसल, सरकार ने वर्ष 2021 के बजट ( Budget 2021 ) को मंजूरी दे दी। इसके विरोध में प्रदर्शनकारियों ने एक रैली निकाली और संसद भवन में तोड़फोड़ करते हुए उसके एक हिस्से में आग लगा दी। सरकार ने 2021 के बजट में शिक्षा और स्वास्थ्य के मद में कटौती की है, जिसके खिलाफ लोग एतराज जता रहे हैं।

ग्वाटेमाला: राष्ट्रपति चुनाव में कंजर्वेटिव उम्मीदवार अलेजांद्रो गियामाटेई को मिली जीत

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार को बजट की मंजूरी के विरोध में लगभग सात हजार प्रदर्शनकारी राजधानी ग्वाटेमाला सिटी में नेशनल पैलेस के सामने प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि सांसदों ने आपसी बातचीत के बाद बजट पारित कर दिया, जबकि देश कोरोना महामारी और हाल के दिनों में आए तूफानों की वजह से कई समस्याओं से जूझ रहा है।

पुलिस व प्रदर्शनकारियों में झड़प

सोशल मीडिया पर प्रदर्शनकारियों का कई तरह के वीडियो चल रहे हैं, जिसमें संसद भवन की खिड़की में आग के तेज लपटें भी देखी जा सकती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प भी हुई है। पुलिस ने उग्र प्रदर्शकारियों को रोकने के लिए आंसू गैस के गोले दागे, इसमे कई लोग घायल हो गए।

इधर राष्ट्रपति अलेजांद्रो गियामाटेई ने ट्वीट करते हुए संसद भवन में आग लगाए जाने की इस घटना की कड़ी निंदा की है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा है कि इस तरह की हरकत करने वाले लोगों से सख्ती से निपटा जाएगा।

ग्वाटेमाला में दो प्रवासी बच्चों की मौत पर ट्रंप का डेमोक्रेट्स पर निशाना, पुरानी नीतियों को ठहराया जिम्मेदार

राष्ट्रपति ने कहा कि कानून के दायरे में रहकर प्रदर्शनकारियों को विरोध जताने का अधिकार है, लेकिन सार्वजनिक या निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

बजट में कटौती का विरोध

प्रदर्शनकारियों ने कहा है कि देश के सांसदों ने अपने लिए भोजन का भुगतान करने के लिए 65 हजार डॉलर मंजूर किए हैं, जबकि कोरोना महामारी और अन्य समस्याओं से जूझ रहे मरीजों व मानवाधिकार एजेंसियों के लिए धन में कटौती की गई है। इसके अलावा सरकार द्वारा प्रस्तावित सार्वजनिक ऋण की वृद्धि का भी कई सेक्टर विरोध कर रहे हैं।

हालांकि राष्ट्रपति ने कहा है कि विभिन्न समूहों के साथ बातचीत करने के बाद ही बजट में बदलाव किया गया है। इन सबके बीच उपराष्ट्रपति ने इस्तीफा देने की पेशकश की है, जिसको लेकर राष्ट्रपति अलेजांद्रो गियामाटेई ने कहा है कि देश की भलाई के लिए उन लोगों को पद छोड़ देना चाहिए।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned