अफगा​निस्तान: काबुल में गुरुद्वारे पर आतंकी हमला, 11 लोगों की मौत

Highlights

  • अज्ञात बंदूकधारियों और आत्मघाती हमलावरों ने इस हमले को अंजाम दिया।
  • गुरुद्वारे और आसपास के इलाकों को सुरक्षाबलों ने घेर लिया है।

काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सिखों के धार्मिक स्थल पर बुधवार को एक आतंकी हमला हुआ है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गुरुद्वारे में प्रार्थना के लिए एकत्र हुए कई लोगों को बंधक बना लिया । बताया जा रहा है कि उस वक्त गुरुद्वारे में सिख समुदाय के लोग प्रार्थना के लिए एकत्र हुए थे। आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने हमले की पुष्टि कर कहा कि अज्ञात बंदूकधारियों और आत्मघाती हमलावरों ने इस हमले को अंजाम दिया है। गौरतलब है कि अफगानिस्तान में सिख समुदाय मुख्य रूप से जलालाबाद और काबुल में रहते हैं।

हथियारबंद लोग काबुल के बाजार में घुसे

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कुछ हथियारबंद लोग काबुल के बाजार में स्थित गुरुद्वारे में स्थानीय समय के मुताबिक सुबह 7.45 बजे घुसे और गोलीबारी की। सुरक्षाबलों ने इसका कड़ा जवाब दिया। रिपोर्ट के अनुसार इस हमले में 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए।

वहीं रिपोर्ट में बताया गया है कि तीन हमलावर अभी भी सुरक्षाबलों से मुकाबला कर रहे हैं और एक हमलावर को मार गिराया गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस घटना को लेकर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी को संदेश देते हुए कहा कि हमलावरों का पता लगाएं और लोगों की देखभाल करें।

अल्पसंख्यक सिखों पर यह पहला हमला नहीं है। इससे पहले भी अफगानिस्तान में उनपर हमले होते आए हैं। इस कारण कई बार उन्हें मजबूरी में भारत की शरण लेनी पड़ी। 2018 में भी जलालाबाद में आत्मघाती हमला हुआ था जिसमें 13 सिख मारे गए थे। हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली थी।

हमले से सिख समुदाय इतना डर गया था कि उन्होंने देश छोड़ने का फैसला कर लिया था। अफगानिस्तान में 300 से भी कम सिख परिवार रहता है जिनके पास दो ही गुरुद्वारा है। एक जलालाबाद और एक काबुल में।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned