हैती: अमरीकी NGO में लगी भीषण आग, अनाथालय में 15 बच्चों की मौत

  • 13 बच्चों ने सांस लेने में तकलीफ के बाद पास के अस्पताल ( Hospital ) में दम तोड़ दिया
  • दो मंजिला इमारत में हॉलवे में एक बोर्ड पर छोड़ी गई मोमबत्ती को आग लगने का कारण माना जा रहा है

पोर्ट-औ-प्रिंस। कैरेबियाई देश हैती ( Caribbean Country Haiti ) स्थिति एक अमरीकी एनजीओ ( American NGO ) में भीषण आग लग गई, जिसमें 15 बच्चों की मौत हो गई। अमरीका ( America ) की एक गैर लाभकारी ईसाई संस्था की ओर से हैती में संचालित एक अनाथालय ( Orphanage ) में आग लगने से कम से कम 15 बच्चों की मौत हो गई।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि पोर्ट-औ-प्रिंस ( Port-au-Prince ) के बाहरी इलाके में स्थित अनाथालय में गुरुवार रात आग लगने से दो बच्चों की उनके कमरों में मौत हो गई, जबकि 13 अन्य ने सांस लेने में तकलीफ के बाद पास के अस्पताल में दम तोड़ दिया।

VIDEO: हैती में लोगों का प्रदर्शन जारी, पुलिस व प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प

अधिकारी ने कहा, 'दुर्भाग्य से, फेरमथ अस्पताल जहां बच्चों को भर्ती किया गया था, वह ज्यादा कुछ नहीं कर सका। वे वहां पहुंचने से पहले ही गंभीर स्थिति में थे और ठीक से सांस नहीं ले पा रहे थे।’ दो मंजिला इमारत में हॉलवे में एक बोर्ड पर छोड़ी गई मोमबत्ती को आग लगने का कारण माना जा रहा है।

देशभर में है 754 अनाथालय

अधिकारी ने कहा कि आग इमारत के ग्राउंड फ्लोर से होकर फैल गई और एक बेडरूम और अन्य कमरों को पूरी तरह से जला कर खाक कर दिया, लेकिन धुंए ने दूसरी मंजिल को भी प्रभावित किया जहां अन्य बेडरूम स्थित थे।

66 बच्चों को रखने की क्षमता वाले अनाथालय को पिछले 40 वर्षों से पेंसिल्वेनिया स्थित एक ईसाई संगठन चर्च ऑफ बाइबल अंडरस्टैंडिंग द्वारा संचालित किया जाता रहा है।

Video: हैती के राष्ट्रपति जुवानेल मोइसे के अमरीकी समर्थन के खिलाफ प्रदर्शन

पोर्ट-औ-प्रिंस के उपनगर, पेतियेन-विले में स्थित, अनाथालय के पास संचालन करने का लाइसेंस नहीं था। बदहाल देश हैती में यह सामान्य बात है, क्योंकि देश के 754 अनाथालयों में से केवल 35 के पास लाइसेंस है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned