2020 में खतरों से जूझता रहा सऊदी, हूती विद्रोहियों ने सीमावर्ती शहरों में दागीं 75 बैलिस्टिक मिसाइलें

HIGHLIGHTS

  • Houthi Rebels In Yemen: हूती विद्रोहियों ने एक बयान में कहा है कि 2020 में उन्होंने सऊदी अरब ( Saudi Arabia ) के सीमावर्ती शहरों में 75 बैलिस्टिक मिसाइलें दागीं।
  • विद्रोही समूह के सैन्य प्रवक्ता याह्या सराया ने एक बयान में कहा कि हमारे लड़ाकों ने पिछले वर्ष यानी 2020 में यमन के कई शहरों में 178 बैलिस्टिक मिसाइलें ( Ballistic Missiles ) दागीं।

रियाद। ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ( Houthi Rebels In Yemen ) ने लगातार हमला कर पिछले कई वर्षों से गृहयुद्ध में घिरे यमन को अस्थिर करने की कोशिश की है। पिछले साल हूती विद्रोहियों ने कई बार मिसाइल हमला कर कब्जा जमाने की कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हो सके। इस दौरान सऊदी अरब को भी निशाना बनाया गया।

सोमवार को एक बयान में हूती विद्रोहियों ने कहा है कि 2020 में उन्होंने सऊदी अरब के सीमावर्ती शहरों में 75 बैलिस्टिक मिसाइलें ( Ballistic Missiles Attack ) दागीं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, विद्रोही समूह के सैन्य प्रवक्ता याह्या सराया ने एक बयान में कहा कि हमारे लड़ाकों ने पिछले वर्ष यानी 2020 में यमन के कई शहरों में 178 बैलिस्टिक मिसाइलें दागीं। इस दौरान खास तौर पर सरकारी सैन्य साइटों को निशाना बनाते हुए हमला किया गया।

यमन: सऊदी गठबंधन का युद्धक विमान दुर्घटनाग्रस्त, हौती विद्रोहियों ने मार गिराने का किया दावा

सराया ने यह भी कहा कि पिछले साल सऊदी अरब ( Saudi Arabia ) पर हमारे लड़ाकों ने 267 बम ड्रोन से दागे और यमन के कई शहरों के अंदर सरकारी संस्थाओं व संगठनों पर 180 ड्रोन हमले किए। बता दें कि हूती विद्रोहियों ने पिछले साल सऊदी अरब की सीमा पर ड्रोन और मिसाइल हमले तेज कर दिए थे। सरकार के बयानों के मुताबिक, इन हमलों में सैंकड़ों लोग मारे गए और घायल भी हुए। हालांकि सऊदी नीत गठबंधन ने ये बताया था कि अधिकांश हमलों को विफल कर दिया गया था।

2014 से गृहयुद्ध झेल रहा है यमन

आपको बता दें कि 2014 के अंत से यमन में अशांति है। पिछले 6 सालों से यमन गृहयुद्ध से घिरा हुआ है। हूती विद्रोहियों ने देश के उत्तरी प्रांतों पर अपना नियंत्रण कर लिया है। विद्रोहियों ने राष्ट्रपति अब्द-रब्बू मंसूर हादी को राजधानी सना से बाहर कर दिया है।

राष्ट्रपति मंसूर को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त है। सऊदी की अगुवाई में अरब गठबंधन ने 2015 में विद्रोहियों के खिलाफ अभियान छेड़ा है, ताकि यमन में फिर से शांति बहाल किया जा सके।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned