ईरान पर जानकारी चाहिए तो ट्वीटर पर मुझे फॉलो करे कांग्रेस: डोनाल्ड ट्रंप

  • Donald Trump ने कांग्रेस सदस्यों को पहले सूचित किए बिना सुलेमानी की हत्या का आदेश दिया था
  • ट्रंप ने एक ट्वीट में कहा कि उन्हें कानूनी रूप से कांग्रेस को सूचित करने की जरूरत महसूस नहीं हुई

वाशिंगटन। ईरानी सैन्य कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी ( Qasem Soleimani ) की मौत के बाद से देशभर में अमरीका ( America ) को लेर अलग-अलग आवाजें उठने लगी है। कई देशों ने सीधे-सीधे इस कार्रवाई को गलत बताया तो कई ने कहा कि ट्रंप सरकार की ओर से ऐसा करना अनुचित था।

अमरीकी कांग्रेस ( US Congress ) में भी इस कार्रवाई को लेकर सवाल खड़े किए गए हैं। इस बीच डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) की ओर से एक बड़ा बयान सामने आया है।

ट्रंप ने कांग्रेस से कहा है कि ईरानी सैन्य कमांडर मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बदले में ईरान के किसी भी हमले के जवाब में अमरीकी कार्रवाई की जानकारी लेने के लिए वह ट्रंप को ट्विटर पर फॉलो करे।

ट्रंप ने कैसे ले लिया सुलेमानी को खत्म करने का फैसला, ईरान से युद्ध की हो सकती है शुरुआत

बता दें कि ट्रंप ने कांग्रेस सदस्यों को पहले सूचित किए बिना सुलेमानी की हत्या का आदेश दिया था। अमरीकी सेना ने बगदाद एयरपोर्ट में ड्रोन हमले में सुलेमानी को पिछले सप्ताह मार गिराया था। इस संदर्भ में ट्रंप ने रविवार को एक ट्वीट में कहा कि उन्हें कानूनी रूप से कांग्रेस को सूचित करने की जरूरत महसूस नहीं हुई।

'ट्वीट द्वारा कांग्रेस को सूचित नहीं कर सकते राष्ट्रपति’

राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट किया कि ये मीडिया खबरें अमरीकी कांग्रेस के लिए सूचना की तरह होंगी कि ईरान अगर किसी अमरीकी व्यक्ति या संपत्ति पर हमला करता है तो अमरीका उस पर तत्काल और पूरी ताकत से प्रतिक्रिया करते हुए हमला करेगा। इस तरह की सूचना की जरूरत नहीं है, लेकिन दी जाती है।

हालांकि येल लॉ स्कूल के प्रोफेसर उना हैथवे ने ट्वीट करते हुए ट्रंप पर पलटवार किया है और कहा कि इस ट्वीट से कई नियम तोड़ने की धमकी दी गई है। वार पॉवर रिजोल्यूशन के अंतर्गत राष्ट्रपति ट्वीट द्वारा कांग्रेस को सूचित नहीं कर सकते।

ट्रंप ने ईरान को दी धमकी, बदला लिया तो उसके 52 ठिकानों पर होगा हमला

ट्रंप ने इससे पहले ईरान के सांस्कृतिक स्थलों समेत उसके 52 स्थानों को तबाह करने की धमकी दी थी। एक यूजर ने जवाब दिया, 'रुकिए, जब वे कहते हैं 'ये मीडिया पोस्ट्स' तब क्या वे अपने ट्वीट्स के बारे में बात करते हैं? तो क्या वे कांग्रेस से बात करने में आलस करते हैं या डरते हैं।’

बता दें कि इसस पहले भी ट्रंप ने ट्वीट के जरिए पहले भी औचक आदेश देने दिए हैं। साथ ही उत्तर कोरिया जैसे दूसरे देशों को धमकी भी दी है। ट्रंप ने 2018 में विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को ट्वीट के माध्यम से हटाया था।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

डोनाल्ड ट्रंप
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned