ऑस्ट्रेलियन कंपनी ने भगवान गणेश को बताया मांसाहारी, भारत ने जताया विरोध

Chandra Prakash

Publish: Sep, 12 2017 12:20:00 (IST) | Updated: Sep, 12 2017 12:48:00 (IST)

Miscellenous World
ऑस्ट्रेलियन कंपनी ने भगवान गणेश को बताया मांसाहारी, भारत ने जताया विरोध

ऑस्ट्रेलियन मीट कंपनी ने एक विज्ञापन में भगवान गणेश को दिखाया है मेमने का मीट खाते हुए।

कैनबरा/नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया में मीट का उत्पादन करने वाली कंपनी 'मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया' के एक शर्मनाक विज्ञापन को लेकर काफी बवाल मच गया है। कंपनी के द्वारा हाल ही में जारी किए गए एक विज्ञापन में भगवान गणेश को मेमने का मांस खाते हुए दिखाया गया है। इस वीडियो के सामने आने के बाद से ही भारत में लोगों का गुस्सा उफान पर है। वहीं इस मामले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के सामने कूटनीतिक विरोध दर्ज कर दिया है।

3 सरकारी विभागों में दर्ज कराई आपत्ति
ऑस्ट्रेलिया में भारतीय उच्चायोग ने 3 सरकारी विभागों, फॉरेन अफेयर्स, कम्युनिकेशंस और ऐग्रिकल्चर डिपार्टमेंट को 'मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया' के विवादित विज्ञापन को लेकर एक विरोधपत्र भेजा है, जिसमें इस मामले में तुरंत एक्शन लेने के लिए कहा गया है। विरोधपत्र में कहा गया है कि इस विवादित ऐड की वजह से भारतीय समुदाय की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। भारतीय उच्चायोग ने ऑस्ट्रेलिया में मौजूद भारतीय समुदाय के लोगों का विरोध देखने के बाद मामले का संज्ञान लिया और कहा कि मांस उत्पादक समूह 'मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया' का यह विज्ञापन अपमानजनक है, जिसने भारतीय समुदाय की धार्मिक भावनाएं आहत की हैं।

भगवान गणेश को दिखाया मेमने का मीट खाते हुए
आपको बता दें कि गणेश चतुर्थी के कुछ दिन बाद ही इस वीडियो को जारी किया गया था। वीडियो में भगवान गणेश को अन्य धर्मों के अनुयायियों के साथ मेमने का मीट खाते हुए दिखाया गया है। वीडियो में गणेश भगवान के साथ ईसा मसीह और गौतम बुद्ध सहित कई धर्मों और मान्यताओं के प्रतिनिधि एवं संस्थापकों को खाने की मेज के चारों तरफ बैठे हुए दिखाया गया है। खाना खाते हुए ये आपस में बातें कर रहे हैं। इन्हीं बातों में हजरत मोहम्मद का जिक्र भी आता है कि वह इस भोज में शामिल नहीं हो सके।

भारत ने उठाई विज्ञापन को बैन करने की मांग
उच्चायोग ने बताया कि भारतीय समुदाय इस बात को लेकर नाराज है कि भगवान गणेश कभी मांसाहार नहीं करते हैं और न ही उन्हें कभी मांस चढ़ाया जाता है। सिडनी में भारत के महावाणिज्य राजदूत ने इस मामले को सीधे मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया के समक्ष उठाते हुए उनसे इस ऐड को हटाने की मांग की है। इसके अलावा कई सामुदायिक संगठनों ने भी ऑस्ट्रेलिया की सरकार और 'मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया' के सामने विरोध दर्ज कराया। ऑस्ट्रेलिया की हिंदू परिषद ने मेमने के मांस की खपत को बढ़ाने के लिए भगवान गणेश की तस्वीर के इस्तेमाल को भौंडा और घिनौना प्रयास बताया है।

विज्ञापन के समर्थन में भी आए कुछ लोग
वहीं दूसरी तरफ 'मीट ऐड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया' इतने विरोध के बाद भी अपना बचाव करती हुई नजर आ रही है। कंपनी ने ये कहते हुए अपना बचाव किया है कि उनका मकसद एकता और विविधता को बढ़ावा देना था। ऑस्ट्रेलिया की विज्ञापन नियामक संस्था ऐडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स ब्यूरो ने कहा है कि इस विज्ञापन के विरोध में अब तक 30 से ज्यादा शिकायतें आ चुकी हैं। साथ ही इसके खिलाफ एक ऑनलाइन कैंपेन भी चलाई गई जिसे हजारों लोगों का समर्थन मिला। सोशल मीडिया पर भी लोग इस विज्ञापन का काफी विरोध कर रहे हैं। इन विरोध प्रदर्शनों के बाद इस संबंध में एक आधिकारिक राजनयिक शिकायत दर्ज कर ली गई है।

 

1
Ad Block is Banned