तुर्की को भारत का करारा जवाब, कहा- भारत के अंदरूनी मामले में दखल न दे

  • एर्दोआन ने पाकिस्तानी संसद में कश्मीर को लेकर की बयानबाजी।
  • कश्मीरियों के संघर्ष की तुलना विश्व युद्ध में विदेशी शासन से की।

लाहौर। पाकिस्तान की संसद में तुर्की के राष्ट्रपति द्वारा कश्मीर पर बयानबाजी को लेकर भारत ने चेतावनी दी है। राष्ट्रपति के बयानों की आलोचना करते हुए कहा कि विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करें। इसके साथ ही,भारत ने तुर्की को पाकिस्तान के आतंकवाद पर ध्यान देने की नसीहत दी।

Corona virus: चीन में हर मिनट पर एक शख्स कोरोना वायरस की चपेट में आ रहा, 24 घंटे में 143 मरीजों ने दम तोड़ा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति द्वारा दिए गए सभी संदर्भों को भारत खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, जो उससे कभी अलग नहीं हो सकता। एर्दोआन ने शुक्रवार को पाकिस्तानी संसद में अपने संबोधन में'कश्मीरियों के संघर्ष की तुलना प्रथम विश्व युद्ध के दौरान विदेशी शासन के खिलाफ खड़े तुर्कों से की है।'

जम्मू-कश्मीर पर एर्दोआन के बयान को लेकर कुमार ने कहा कि भारत जम्मू-कश्मीर के संबंध में दिए सभी संदर्भों को खारिज करता है। वह भारत का अभिन्न अंग है जो उससे कभी अलग नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि तुर्क नेतृत्व से अपील है कि वह भारत के आंतरिक मामलों में बिल्कुल हस्तक्षेप न करे और भारत और क्षेत्र के लिए पाक से उत्पन्न आतंकवाद के गंभीर खतरे सहित अन्य तथ्यों की उचित समझ विकसित करे।

Mohit Saxena Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned