ब्रिटिश संसद में पाक ने कश्मीर का मुद्दा उठाया, भारत ने लगाई फटकार

भारत ने कश्मीर के मुद्दे पर सांसदों द्वारा उपयोग की जाने वाली भाषा पर आपत्ति जताई।

नई दिल्ली। ब्रिटिश संसद में कश्मीर का मुद्दा उठाने पर भारत ने पाकिस्तान को खरी-खरी सुनाई। इस बहस के दौरान भारत ने कश्मीर के मुद्दे पर सांसदों द्वारा उपयोग की जाने वाली भाषा पर आपत्ति जताई।

कश्मीर का राग अलापे जाने पर ब्रिटिश सांसदों ने भी पाक को फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि पाक वर्षों से तालिबान जैसे आतंकी संगठनों को सुरक्षा दे रहा है।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने कमला हैरिस को काशी की हस्तकला से बना शतरंज भेट किया, अन्य नेताओं को भी दिए उपहार

लंदन में भारतीय उच्चायोग के एक मंत्री ने कहा कि कश्मीर देश का एक अभिन्न अंग है। इससे संबंधित विषय पर किसी भी मंच में किए गए किसी भी दावों को तथ्यों को प्रमाणित करने की जरूरत है।

लंदन में भारतीय उच्चायोग के एक मंत्री ने पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ उपयोग किए गए शब्दों की कड़ी निंदा करी। उन्होंने दोहराया कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। 2002 गुजरात दंगों का हवाला देने वाले पाकिस्तानी मूल के सांसद नाज शाह की टिप्पणी का जिक्र करा। भारतीय उच्चायोग के मंत्री ने कहा, "ये दुख की बात है कि एक प्रतिष्ठित मंच जरिए दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के निर्वाचित नेता के खिलाफ गलत लफ्जों का उपयोग किया गया।"

इस सर्वदलीय बैठक में 20 से ज्यादा पार्टी सदस्यों ने भाग लिया। इसमें सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद बॉब ब्लैकमैन और थेरेसा विलियर्स ने भारतीय अदालतों और संस्थानों का पक्ष लिया।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned