ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर के संकेत, भारतीय मूल के वैज्ञानिक ने चेताया

ब्रिटेन के पीएम बॉरिस जॉनसन से 21 जून से लॉकडाउन हटाने की योजना को कुछ हफ्ते के लिए टालने का आग्रह किया।

लंदन। ब्रिटेन में तीसरी लहर के संकेत मिल रहे हैं। इसकी पुष्टि एक भारतीय वैज्ञानिक ने की है। इस मशहूर वैज्ञानिक ने चेतावनी दी है कि ब्रिटेन कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर के प्रारंभिक चरण में है। उन्होंने पीएम पीएम बॉरिस जॉनसन से 21 जून से लॉकडाउन हटाने की योजना को कुछ हफ्ते के लिए टालने का आग्रह किया है।

Read More: चीन में प्रत्येक दंपती पैदा कर सकेंगे तीन बच्चे, इसलिए लेना पड़ा बड़ा फैसला

तेजी से बढ़े हैं कोरोना संक्रमण के मामले

सरकार के ‘न्यू एंड इमर्जिंग रेस्पिरेटरी वायरस थ्रेट एडवाइजरी ग्रुप (नर्वटैग) के सदस्य और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रवि गुप्ता के अनुसार वैसे तो नए मामले अपेक्षाकृत कम हैं मगर कोरोना वायरस के बी.1.617 वैरिएंट संक्रमण के तेजी से बढ़ने की आशंका को बल मिला है। ब्रिटेन में रविवार को लगातार पांचवें दिन कोरोना वायरस के तीन हजार से अधिक मामले सामने आए।

लॉकडाउन हटाने की योजना को टाल दें

गुप्ता ने पीएम से आग्रह किया है कि वे 21 जून से लॉकडाउन हटाने की योजना को टाल दें। इससे कोरोना के मामलों को रोकने में मदद मिलेगी। देश में कोरोना वायरस के कुल मामले 4,499,939 तक पहुंच गए हैं। वहीं अब तक 1,28,043 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। गुप्ता का कहना है कि ब्रिटेन पहले से तीसरी लहर की चपेट में है। यहां पर तीन चौथाई नए मामलों में कोरोना का वह स्वरूप मिला है जो भारत में मिला है।

Read More: हांगकांग में टीकाकरण के लिए दिया ऑफर, कोरोना वैक्सीन लगाने पर पाएं 10 करोड़ का अपार्टमेंट

यह शुरूआती लहर है

उन्होंने कहा कि फिलहाल मामले तो कम हैं लेकिन सभी लहरें कम आंकड़े से ही शुरू होती हैं। ऐसे में ये बाद में विस्फोटक हो सकती है, इसलिए यह शुरूआती लहर है। ब्रिटेन में टीकाकरण बेहतर ढंग से हो रहा है। इसलिए शायद इस लहर को बीती लहरों की तुलना में सामने आने में वक्त लगेगा।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned