America: भारतीय सिख ने नदी में डूब रहे तीन बच्चों की जान बचाई, तेज बहाव में खुद को न बचा सके

Highlights

  • मनजीत नदी के तट पर खड़े ये देख रहे थे, बच्चों को डूबता देख बिना सोचे नदी में कूद गए।
  • 29 वर्षीय मनजीत सिंह फ्रेंसो का रहने वाले हैंं, दो वर्ष पहले ही वो भारत से अमरीका आए थे।

वाशिंगटन। अमरीका की किंग्स नदी (Kings river) में कुछ बच्चों को डूबता देखकर एक सिख युवक (Indian Sikh) ने खुद अपनी जान जोखिम डाल दी। वह नदी के तट पर खड़ा ये देख रहा था। अपनी जान की परवाह किए बैगर वह नदी में कूद गया और तीन बच्चों (Saved Three Lifes) की जान बचा ली,पर इस दौरान वह अपने को नहीं बचा सका।

मनजीत खुद नदी के बहाव से बाहर नहीं आ पाए

मनजीत ने जब देखा कि दो 8 वर्षीय बच्चियां और एक 10 वर्षीय लड़का नदी डूब रहा है तो उन्होंने बिना कुछ सोचे नदी में छलांग लगा दी। दरअसल, मनजीत वहीं खड़े थे। मनजीत अपने बहनोई के साथ यहां नदी पर जेट स्कीस ड्राइव करने गए थे। इस दौरान वे खुद नदी के तेज बहाव मेें अपने आप का नहीं बचा सके।

मनजीत के नदी में छलांग लगाते ही आसपास खडे़ लोग फिर मदद के लिए आगे आए। एक लड़के और एक लड़की को पानी में से बाहर निकाल लिया गया। लेकिन एक लड़की को बेहोशी की अवस्था में निकाला गया है। उस लड़की को फिलहाल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दो साल पहले ही आया था अमरीका

29 वर्षीय मनजीत सिंह फ्रेंसो का रहने वाले हैंं। दो वर्ष पहले ही वो भारत से अमरीका आए थे। पांच अगस्त को मनजीत की ट्रेनिंग का पहला दिन था। वह ट्रक ड्राइविंग के बिजनेस के लिए अमरीका में आए हैं।

पुलिस का कहना है कि सिंह बिना सोचे समझे बच्चों की मददकर दिलेरी दिखाई है। मगर दुर्भाग्य से वो खुद इसमें डूब गए। सिंह इन बच्चों को नहीं जानते थे, उन्होंने जैसे ही देखा कि बच्चे डूब रहे हैं, वह अपनी जान की परवाह किए बैगर नदी में कूद गए उन्हें बचाने के लिए। दुर्भाग्य से, मंजीत नहीं मिले। 40 मिनट के बाद, सिंह को पानी के नीचे बेसुध पाया गया। उसे बाहर निकाला गया और अस्पताल पहुँचाया गया जहाँ उसे मृत घोषित कर दिया गया।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned