वो इस्लामिक देश, जहां हर लड़की को करवाना पड़ता है वर्जिनिटी टेस्ट !

  • यहां शादी से पहले महिलाओं को कराना होता है वर्जिनिटी टेस्ट
  • रिजल्ट में महिलाएं पास नहीं होतीं, तो पुरुष कैंसिल कर सकते हैं शादी

नई दिल्ली। 21 वीं सदी में भी दुनिया में ऐसे कई देश हैं और समुदाय हैं जहां अभी भी शादी के पहले लड़की का वर्जिनिटी टेस्ट कराया जाता है और इस टेस्ट में 'पास' ना होने पर पुरूष शादी कैंसिल भी करा सकते हैं। हाल ही में पाकिस्तान की एक अदालत ने वर्जिनिटी टेस्ट को बंद करने का फैसला सुनाया है।

Pakistan: यौन पीड़ितों के लिए बड़ी जीत, कोर्ट ने टू-फिंगर टेस्ट को असंवैधानिक करार दिया

पंजाब प्रांत में लाहौर हाई कोर्ट की जज आयशा मलिक ने कहा था कि ये टेस्ट अपमानजनक है और इनसे कोई फॉरेंसिक मदद नहीं मिलती है। इसे बंद करना जरूरी है। लेकिन अभी भी कई ऐसे देश हैं जहां महिलाओं की सेक्शुएलिटी और वर्जिनिटी को लेकर टेस्ट कराए जाते हैं।

नॉर्थ अफ़्रीका के देश मोरक्को के पीनल कोड के हिसाब से महिलाओं को वर्जिनिटी टेस्ट कराया जा सकता है। यहां महिलाओं को शादी के बाहर सेक्स गैर-कानूनी है और यहां शादी से पहले टेस्ट कराना होता है। इस टेस्ट में फेल होने पर पुरूष शादी कैंसिल भी करा सकते हैं।

शादी के पहले दिन सास और ननद ने किया बहू का वर्जिनिटी टेस्ट, पिता ने कसम दी तो बिलख पड़ी बेटी

लीला स्लीमानी ने अपनी किताब सेक्स एंड लाइज में मोरक्को में महिलाओं द्वारा झेली जानी वाली इस यातना के बारे में लिखा भी है। उन्होंने अपनी किताब में लिखा है कि मेरे देश में वर्जिनिटी एक पर्सनल मुद्दा ना होकर एक सामाजिक मुद्दा है। यहां के लोग वर्जिनिटी को लेकर बहुत ज्यादा संवेदनशील हैं।

साल 2018 में विश्व स्वास्थ्य संगठन ह्यूमन राइट्स काउंसिल (HRC) और यूनाइटेड नेशन्स वीमेन ने सर्टीफिकेट्स पर बैन लगाने की मांग की थी लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हो सका है। इसके अलावा कई लोग मोरक्को के स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिख कर वर्जीनिटी सर्टिफिकेट्स पर प्रतिबंध लगाने की मांग भी कर चुके हैं लेकिन इसका भी कोई असर नहीं हुआ है।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned