ट्रंप के खिलाफ पेश हुआ महाभियोग का कानूनी आदेश, उपराष्ट्रपति से भी 15 अक्टूबर तक दस्तावेज पेश करने की मांग

ट्रंप के खिलाफ पेश हुआ महाभियोग का कानूनी आदेश, उपराष्ट्रपति से भी 15 अक्टूबर तक दस्तावेज पेश करने की मांग

  • ट्रंप पर यूक्रेन से जानकारियां साझा करने का आरोप
  • वाइट हाउस पर भी दस्तावेजों की हेराफेरी का शक

वाशिंगटन। अमरीका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू हो गई है। देश की तीन कांग्रेस समितियों के प्रमुखों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने जुड़ी जांच आदेश को वाइट हाउस में पेश कर दिया है। बता दें कि ट्रंप पर राजनीतिक फायदे के लिए यूक्रेन से ऐसी जानकारियां साझा करने का आरोप है, जो उन्होंने कथित तौर पर अपने प्रतिद्वंदी जो बिडेन को नुकसान पहुंचाने के मकसद से साझा की थी।

वाइट हाउस पर भी दस्तावेजों की हेराफेरी का आरोप

वहीं, इसी बीच अमरीकी संसद में डेमोक्रेटिक सांसदों ने इससे जुड़े में उपराष्ट्रपति माइक पेंस से उनकी संभावित भूमिका से संबंधित दस्तावेज मांगे हैं। दूसरी तरफ, ट्रंप ने हमेशा ही अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार किया है। बता दें कि चीन और यूक्रेन ने दावा किया है कि ट्रंप ने सार्वजनिक रूप से बिडेन और उनके बेटे के खिलाफ जांच शुरू करने के लिए दबाव बनाया है। दोनों देशा का वाइट हाउस पर भी आरोप है कि वहां भी राष्ट्रपति पर आरोपों से जुड़े दस्तावेजों की हेराफेरी की गई है।

15 अक्टूबर तक दस्तावेज जमा कराने की मांग

जानकारी के मुताबिक, महाभियोग से जुड़ी डेमोक्रेटिक पार्टी के तीन प्रमुख सांसदों ने उपराष्ट्रपति पेंस को एक पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है,'हाल ही में आई सार्वजनिक रिपोर्टों में यूक्रेन के राष्ट्रपति को ट्रंप का संदेश पहुंचाने या उसका समर्थन करने में आपकी भी संभावित भूमिका को लेकर सवाल उठ रहे हैं। ऐसे में प्रतिनिधि सभा की महाभियोग की जांच के लिए, आपसे अनुरोध किया जाता है कि आप 15 अक्टूबर तक निर्धारित दस्तावेज पेश करें।'

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned