राष्ट्रमंडल में फिर शामिल हुआ मालदीव, तीन साल पहले हुआ था अलग

  • मालदीव ( Maldives ) ने दिसंबर 2018 में राष्ट्रमंडल ( Commonwealth ) के साथ फिर से जुड़ने के लिए अनुरोध किया था
  • शनिवार को आधिकारिक तौर पर मालदीव को करीब तीन साल बाद राष्ट्रमंडल में शामिल किया गया

लंदन। जहां एक और यूरोपियन यूनियन ( European Union ) से ब्रिटेन ( Britain ) अलग हो गया, वहीं दूसरी तरफ मालदीव ( Maldives ) एक बार फिर से राष्ट्रमंडल में शामिल हो गया है। शनिवार को आधिकारिक तौर पर मालदीव को राष्ट्रमंडल में शामिल किया गया।

मालदीव ने दिसंबर 2018 में राष्ट्रमंडल ( Commonwealth ) के साथ फिर से जुड़ने के लिए अनुरोध किया था। इस बाबत राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ( President Ibrahim Mohammad Solih ) ने राष्ट्रमंडल महासचिव पैट्रीशिया स्कॉटलैंड को पत्र भी लिखा था।

मालदीव की संसद में PAK की घोर बेइज्जती, भारत ने कश्मीर मुद्दा उठाने पर लगाई लताड़

बता दें कि मालदीव करीब तीन साल पहले मानवाधिकार ( Human Rights Record ) के मामले पर राष्ट्रमंडल से अलग हो गया था। मालदीव ने अपने मानवाधिकार रिकॉर्ड और लोकतांत्रिक सुधार पर प्रगति के अभाव को लेकर निलंबित किए जाने की चेतावनी के बाद राष्ट्रमंडल से होने का फैसला किया था।

मालदीव के राष्ट्रपति ने जताई खुशी

राष्ट्रमंडल में एक बार फिर से वापसी को लेकर मालदीव के राष्ट्रपति ने खुशी जताई है। राष्ट्रपति सोलेह ने कहा, 'आज मालदीव के लोगों के लिए खुशी का दिन है क्योंकि हम राष्ट्रमंडल देशों के परिवार में लौटे हैं। एक युवा लोकतंत्र के रूप में राष्ट्रमंडल का लोकतंत्र, मानवाधिकारों, सुशासन, बहुपक्षवाद और विश्व शांति को बढ़ावा देने के मूलभूत मूल्य हमारे लिए पहले से कहीं अधिक प्रासंगिक हैं।'

आर्टिकल 370: मालदीव ने मोदी सरकार के फैसले का किया समर्थन, बताया भारत का आंतरिक मामला

बता दें कि बैरोनेस स्कॉटलैंड ने मालदीव और उसके लोगों का राष्ट्रमंडल में स्वागत किया और कहा कि मालदीव में जारी सुधार प्रक्रिया राष्ट्रमंडल के मूल्यों और सिद्धांतों के अनुरूप है। हम देश को इस मार्ग पर चलना जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

उन्होंने आगे यह भी कहा कि राष्ट्रमंडल के सदस्य इन घटनाक्रम को लेकर प्रसन्न हैं और मालदीव की गणना परिवार के सदस्य के रूप में करके खुश हैं। हम साथ मिलकर मालदीव को उसकी महत्वाकांक्षाओं को साकार करने में सहयोग करेंगे।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned