केमिस्ट्री में तीन लोगों को मिला नोबेल पुरस्कार, लिथियम बैटरी का किया अविष्कार

केमिस्ट्री में तीन लोगों को मिला नोबेल पुरस्कार, लिथियम बैटरी का किया अविष्कार

  • गुडइनफ, स्टैनली विथिंगम और योशिनो को नोबेल पुरस्कार
  • इनमें दो वैज्ञानिक अमेरिका के और एक जापान के हैं

वाशिंगटन। केमिस्ट्री के नोबेल पुरस्कार-2019 की घोषणा कर दी गई है। ये अवॉर्ड संयुक्त रूप से तीन वैज्ञानिकों को दिया गया है। जॉन गुडइनफ,एम स्टैनली विथिंगम और अकिरा योशिनो को ये पुरस्कार लिथियम आयन बैटरी के विकास के लिए दिया गया। दी रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंस के सेक्रेटरी के जनरल गोरान के हैन्सन ने इस पुरस्कार की घोषणा की।

गौरतलब है कि लिथियम आयन बैटरी को क्रांतिकारी शोध के रूप में जाना जाता है। इसका उपयोग लोग मोबाइल और लैपटॉप से लेकर इलेक्ट्रिक गाड़ियों तक में करते हैं। बैटरी सुरक्षित होने के साथ काफी हल्की भी होती है। इसका रखरखाव आसान है। इस बैटरी को वैज्ञानिक जीवाश्म इंधन से छुटकारा दिलाने में कारक मान रहे हैं।

ब्रह्मांड विज्ञान को मिला सम्मान

इससे पहले स्वीडेन की राजधानी स्टॉकहोम में रॉयल एकेडमी ऑफ साइंसेज ने मंगलवार को घोषणा की कि साल 2019 के लिए भौतिकी का नोबेल पुरस्कार संयुक्त रूप से तीन वैज्ञानिकों को मिलेगा। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भौतिकी में 2019 के नोबेल पुरस्कार का आधा हिस्सा भौतिक ब्रह्मांड विज्ञान में सैद्धांतिक खोजों के लिए जेम्स पीबल्स को और दूसरा आधा हिस्सा सूरज की तरह के तारे की परिक्रमा करने वाले एक्सोप्लेनेट की खोज के लिए मिशेल मेयर और डिडिएर क्वेलोज को साझा रूप से दिया जाएगा। इससे पहले सोमवार को चिकित्सा क्षेत्र के नोबेल पुरस्कार की घोषणा की गई थी। इस पुरस्कार से तीन अमेरिकी वैज्ञानिकों विलियम जी.केलिन, ग्रीग एल.सेमान्जा और ब्रिटन पीटर जे.रैटक्लिफ को सम्मानित किया गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned