28 साल पहले नर्स ने जिस बच्चे को मौत के मुंह से निकाला, वह अस्पताल में डॉक्टर बनकर लौटा

28 साल पहले नर्स ने जिस बच्चे को मौत के मुंह से निकाला, वह अस्पताल में डॉक्टर बनकर लौटा

तीन दशक पहले आईसीयू में पड़े बच्चे की जमकर देखभाल की थी, अब सामने देखकर भावुक हो गईं विल्मा

कैलिफॉर्निया। तीन दशक बाद एक नर्स के सामने वह बच्चा उसका सहकर्मी बनकर खड़ा होता है, जिसे मौत के मुंह से निकालने के लिए उसने दिनरात एक दिया दिया था। विल्मा वॉन्ग नर्स हैं और 28 साल पहले अपने रोजाना के काम की तरह उन्होंने एक समय से पहले पैदा हुए बच्चे की खूब देखभाल की थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, विल्मा खास तौर पर नवजात बच्चों के लिए ही काम करती हैं और आईसीयू में जिंदगी की जंग लड़ रहे उस बच्चे की खूब देखभाल की। शायद उन्होंने भी नहीं सोचा था कि इस सालों बाद वह बच्चा अस्पताल में डॉक्टर बनकर लौटेगा और दोनों साथ में काम करेंगे।

रोंहिग्या का सच सामने लाने वाले पत्रकारों को मिली सात-सात साल की सजा

भावुक करने वाला था पल

54 साल की विल्मा के लिए यह अनुभव बहुत भावुक करनेवाला रहा। उन्हें पता चला कि कैलिफॉर्निया के ल्यूसल पैकर्ड चिल्ड्रन हॉस्पिटल में उन्होंने 1990 में 29 हफ्ते में ही पैदा हुए जिस बच्चे की लगभग एक महीने तक खूब सेवा की थी, वह उनका सहकर्मी है। डॉक्टर ब्रैंडन सेमिनातोर का नाम जब विल्मा ने सुना तो उन्होंने पहचान लिया। हालांकि, ब्रैंडन यह नहीं जान पा रहे थे कि विल्मा उन्हें कैसे जानती हैं।

सरनेम से हुई पहचान

ब्रैंडन अस्पताल में चाइल्ड न्यूरॉलजिस्ट के तौर पर आए हैं। विल्मा ने बताया कि ब्रैंडन जब बच्चों की देखभाल कर रहे थे तब उन्होंने डॉक्टर से उसका नाम पूछा। इस दौरान उनका सरनेम बहुत पहचाना लगा। विल्मा कहती हैं कि उन्होंने उनसे घर का पता और दूसरी चीजें पूछीं। उन्होंने बताया कि वह खुद एक प्रीमैच्योर बेबी थे और अच्छी देखभाल की वजह से बच सके। इस दौरान जब नर्स ने ब्रैंडन से उसके पिता और रहने वाली जगह का नाम पूछा, तब उन्हें पता चल सका कि यह वहीं बच्चा है। यह पल भावुक करने वाला था।

Ad Block is Banned