पाकिस्तान में डेल्टा वेरिएंट के कारण हालात बिगड़े, अस्पतालों से मरीजों को लौटाया गया

कराची में मौजूद कोरोना केसेज में से 92 फीसदी से अधिक केस डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित मरीजों के हैं।

नई दिल्ली। पाकिस्तान में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वेरिएंट के चलते हालात बहुत ज्यादा खराब हो गए हैं। सभी सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल्स भर चुके हैं तथा बेड खाली नहीं होने के कारण मरीजों को वापस लौटाया जा रहा है। स्थानीय प्रशासन ने चेतावनी दी है कि यदि बचाव के उपाय नहीं किए गए तो हालात बेहद गंभीर होने की आसार हैं।

यह भी पढ़ें : अमरीकी रिपोर्ट का दावा, भारत में 34 लाख से अधिक लोगों की मृत्यु कोरोना से हुई

कराची में कोविड 19 पॉजिटिव की दर 25.7 फीसदी तक पहुंच गई हैं जो बाकी पाकिस्तान के 5.25 प्रतिशत से पांच गुणा ज्यादा है। यही नहीं, कराची में मौजूद कोरोना केसेज में से 92 फीसदी से अधिक केस डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित मरीजों के हैं। सरकार लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने की अपील कर रही है।

यह भी पढ़ें : चीन ने अपनी ही कोरोना वैक्सीन पर आशंका जताई, दो डोज लेने वालों को देगा जर्मनी का बूस्टर शॉट

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्‍तान मेडिकल संघ महासचिव डॉक्‍टर कैसर सज्‍जाद ने कहा कि लोग महामारी को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। ईद के मौके पर इस तरह से गैर जिम्मेदाराना व्यवहार और लापरवाही हालातों को और खराब कर देगी। कोविड-19 मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इस्लामाबाद में कई क्षेत्रों को सील करने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें : कोरोना संक्रमण कम होने पर सबसे पहले प्राइमरी स्कूल्स खुलने चाहिए: ICMR महानिदेशक

उल्लेखनीय है कि इस वक्त पूरे विश्व में कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के चलते तीसरी लहर आने की संभावनाएं जताई जा रही हैं। यूरोप और अमरीका सहित कई देशों में डेल्टा वेरिएंट के केस बढ़ रहे हैं। ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी सभी देशों की सरकारों से आवश्यक तैयारियां करने तथा महामारी की रोकथाम के लिए सभी जरूरी कदम उठाने की अपील की है।

Corona virus
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned