विवादित चीज़ों का हुआ ऐसा अनोखा इस्तेमाल कि ईश्वर ने भी दी कलाकार की कलाकारी को दाद

करीब एक लाख बैन किताबों से मार्टा ने इस अनोखे महल का निर्माण कर डाला।

By:

Published: 10 Feb 2018, 03:56 PM IST

नई दिल्ली। कोई भी चीज़ फेंकने वाली नहीं होती है। ये आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह से उन चीज़ों का उपयोग करते हैं। उपयोग में न आने वाली चीज़ों से एक महाशय ने पूरा का पूरा महल खड़ा कर दिया और उनके द्वारा बनाए गए इस महल की चर्चा हर जगह है। दूर-दूर से लोग इसे देखने के लिए जाते हैं। एक कलाकार ने कुछ ऐसा ही कर दिया है।

Parthenon of books

ये महान कलाकार अर्जेंटिना के है और इनका नाम मार्टा मिन्युजिन है। मार्टा ने किताबों से एक महल का निर्माण किया है। इस महल को बनाने के लिए मार्टा ने उन किताबों का इस्तेमाल किया है जो कि दुनियाभर में बैन है। करीब एक लाख बैन किताबों से मार्टा ने इस अनोखे महल का निर्माण कर डाला। मार्टा ने इसे एक ग्रीक मंदिर पार्थेनान के जैसा बनाया है। इसीलिए उसने इस महल का नाम पार्थेनान ऑफ बुक्स दिया है।

Parthenon of books

मार्टा ने पार्थेनान ऑफ बुक्स का निर्माण जर्मनी के कासल सिटी में करवाया है। इन सारे किताबों को पलास्टिक में लपेटकर इस्पात के बने मचानों में लटका दिया गया है और इस तरह से एक विशाल महल का निर्माण कर दिया गया है। इस कार्य को करने के लिए 74 वर्षीय मार्टा ने कैसल यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राओं की मदद से 170 बैन किताबों की सूची तैयार की और इन किताबों की दस हजार प्रतियों को एकत्रित करने के लिए जनता से मदद की मांग की।

Parthenon of books

आपको बता दें कि इन किताबों में सलमान रूश्दी की द सैटेनिक वर्सेज़, खालिद होसेनी की द काइट रनर, मार्क ट्वेन की द एडवेंचर ऑफ टॉम सॉयर और सिसिली वॉन जि़ज़ेज़र्स की द गॉशिप गर्ल जैसी किताबें है जिन्हें दुनिया में कहीं न कहीं बैन किया गया है।

दुनियाभर से लोग कला के इस अनोखे मिसाल को देखने के लिए आते हैं और किताबों के नामों को पढऩे के साथ-साथ महल की खूबसूरती को निहारते हैं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned