Portugal में 90 साल की सबसे भीषण गर्मी, चार बच्चों ने 33 देशों के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा

HIGHLIGHTS

  • पुर्तगाल ( Heat Wave In Portugal ) में बीते 90 सालों में सबसे अधिक गर्मी अब दर्ज की गई है। लोग इस भीषण गर्मी को झेलने के लिए मजबूर हैं।
  • ऐसे में इस भीषण गर्मी को झेल रहे पुर्तगाल के चार बच्चों और दो युवाओं ने 33 देशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

लिस्बन। दक्षिण एशियाई देशों ( South Asian Countries ) में जहां एक ओर मानसून की बारिश से बाढ़ और भूस्खलन की अलग-अलग घटनाओं से जनजीवन प्रभावित है, तो वहीं दूसरी ओर दक्षिणी यूरोपीय देश पुर्तगाल में भीषण गर्मी से लोग परेशान हैं। बताया जा रहा है कि गर्मी ने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। इस भीषण गर्मी के लिए 33 देशों को जिम्मेदार ठहराया गया है।

दरअसल, पुर्तगाल में बीते 90 सालों में सबसे अधिक गर्मी अब दर्ज की गई है। लोग इस भीषण गर्मी को झेलने के लिए मजबूर हैं। ऐसे में इस भीषण गर्मी को झेल रहे पुर्तगाल के चार बच्चों और दो युवाओं ने 33 देशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

प्लेन के अंदर लगी गर्मी तो इमरजेंसी गेट खोलकर अचानक महिला निकली बाहर, लोगों के उड़े होश

इन बच्चों ने स्ट्रांसबर्ग स्थित मानवाधिकार मामलों की यूरोपीय कोर्ट में मुकदमा दर्ज कराते हुए दलील दी है कि इन्हीं देशों के गैर जिम्मेदाराना व्यवहार और जलवायु परिवर्तन को बढ़ावा देने वाली गतिविधियों के कारण इनके देश (पुर्तगाल) में आज इतना बुरा हाल देखने को मिल रहा है।

जुलाई में 90 सालों में सबसे अधिक गर्मी दर्ज

आपको बता दें कि पुर्तगाल में इस साल जुलाई महीने में बीते 90 सालों में सबसे अधिक गर्मी दर्ज की गई। 33 देशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने वाले बच्चों को ग्लोबल लीगल एक्शन नेटवर्क का भी समर्थन हासिल है। क्लाइमेट एनालिटिक्स ने इस मामले पर एक विशेष रिपोर्ट तैयार की है, जिसमें पुर्तगाल को जलवायु परिवर्तन का हॉटस्पॉट बताया गया है।

अब इन तमाम देशों के खिलाफ मुकदमा चलेगा और यदि ये बच्चे मुकदमा जीत जाते हैं तो सभी 33 देशों को कार्बन उत्सर्जन में कटौती करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। इसके अलावा इन देशों को अपने यहां बहुराष्ट्रीय कंपनियों समेत जलवायु परिवर्तन में विदेशी योगदान में भी कटौती करनी होगी।

Weather Alert: गर्मी का 10 साल का रिकार्ड टूटा, वेस्ट यूपी में जारी किया गया रेड अलर्ट

आपको बता दें कि मुकदमा दर्ज कराने वाले चारों बच्चे लीरिया के रहने वाले हैं, जबकि दोनों युवा लिस्बन में रहते हैं। लिस्बन में 2018 में 44 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकॉर्ड किया गया था। वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है कि ग्लोबल वार्मिंग की वजह से हर साल करीब 3 डिग्री सेल्सियस तापमान बढ़ सकता है। इसका असर भी यूरोपीय देशों में देखने को मिल रहा है। बीते 40-50 वर्षों में ये देखा गया कि पश्चिमी यूरोप में गर्मी बढ़ गई है। इसके अलावा लू की घटनाएं भी बढ़ी है। ऐसे में अब आने वाले समय में तापमान में और भी बढ़ोतरी की आशंका है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned