इस किताब में दफन हैं ट्रंप से जुड़े कई राज, व्हाइट हाउस ने जताई आपत्ति

इस किताब में दफन हैं ट्रंप से जुड़े कई राज, व्हाइट हाउस ने जताई आपत्ति

‘फीयर:ट्रंप इन द व्हाइट हाउस' 11 सितंबर को पाठकों के बीच होगी, इसमें अमरीकी राष्ट्रपति के व्यक्तित्व और उनके कामकाज के तरीकों पर लिखा गया है।

वॉशिंगटन। अमरीका के मशहूर खोजी पत्रकार बॉब वुडवर्ड की नई किताब इन दिनों चर्चा में है। ‘फीयर:ट्रंप इन द व्हाइट हाउस' 11 सितंबर को पाठकों के बीच होगी, जिसमें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के व्यक्तित्व और उनके कामकाज के तरीकों पर लिखा गया है। किताब के प्रकाशन से पहले ही काफी विवाद शुरू हो गया है और व्हाइट हाउस ने इस किताब को मनगढ़ंत करार दिया है।

छवि खराब करने की हो रही कोशिश

व्हाइट हाउस की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि यह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की छवि को खराब दिखाने के लिए गढ़ी हुई कहानियां हैं। इस तरह से राष्ट्रपति को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। दावा किया जा रहा है कि इसमें व्हाइट हाउस के काम करने के तरीकों और ट्रंप के कार्यकाल में फैसले लेने की प्रक्रिया की जानकारी है। वॉशिंगटन पोस्ट ने मंगलवार को एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी,जिसके साथ किताब के कुछ अंश भी छापे थे।

असंतुष्ट पूर्व कर्मचारियों ने निकाली है भड़ास

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि यह किताब कुछ और नहीं बल्कि गढ़ी हुई कहानियां हैं, जिनमें से कई असंतुष्ट पूर्व कर्मचारियों की ओर से कही गई हैं ताकि राष्ट्रपति की छवि को खराब दिखाया जा सके। अमेरिका के शीर्ष पत्रकारों में शामिल वुडवर्ड ‘द वॉशिंगटन पोस्ट’ में असोसिएट एडिटर हैं। उन्होंने रिचर्ड निक्सन से लेकर अब तक अमेरिका के आठ राष्ट्रपतियों के बारे में लिखा है। किताब में उन्होंने ट्रंप के कार्यकाल में व्हाइट हाउस के बारे में नकारात्मक छवि पेश की है,साथ ही ट्रंप और उनके कर्मचारियों के बीच मतभेदों का भी जिक्र किया है। वुडवर्ड के अनुसार उन्होंने कई बार ट्रंप से संपर्क करने का प्रयास किया,लेकिन उन्हें कभी सफलता नहीं मिली। हालांकि जब राष्ट्रपति ने आखिर में उनसे बातचीत करनी चाही तब तक वह किताब पूरी कर चुके थे।

Ad Block is Banned