Russia: इस गांव में पड़ती है सबसे अधिक ठंड, -71 डिग्री तापमान में भी ऐसे जिंदा रहते हैं लोग

HIGHLIGHTS

  • रूस ( Russia ) के साइबेरिया में एक गांव ओम्याकोन ( Oymyakon ) है, जहां पर हर साल सर्द मौसम में तापमाान -71 डिग्री तक चला जाता है।
  • इस गांव में सर्दियों के मौसम में दिन का तापमान -45 से -50 डिग्री सेल्सियस तक होता है। दिसंबर में सुबह 10 बजे के करीब सुर्योदय होता है।

मॉस्को। सर्द मौसम की शुरुआत हो चुकी है और भारत समेत कई देशों में कड़ाके की ठंड पड़नी शुरू हो गई है। आने वाले कुछ दिनों में और भी भीषण ठंड बढ़ने की संभावना है। ऐसे में भारत समेत कई देशों के शहरों में तापमान माइनस डिग्री में चला जाता है, जिससे कड़ाके की ठंड में लोगों की जान भी चली जाती है।

लेकिन दुनिया में एक गांव ऐसा भी है, जहां पर ठंड के मौसम में तापमान -71 डिग्री चला जाता है। ऐसे में अब सोचिए कि वहां के लोग कैसे खुद को जिंदा रखते हैं।

Weather update: लगातार गिरेगा पारा, बढ़ेगी ठंड, मौसम विभाग ने 19 दिसंबर के लिए जारी किया अलर्ट

दरअसल, रूस के साइबेरिया में एक गांव ओम्याकोन (Oymyakon) है, जहां पर हर साल सर्द मौसम में तापमाान -71 डिग्री तक चला जाता है। इस कड़ाके की ठंड में लोगों का जीना मुहाल हो जाता है। इतनी ठंड में यहां पर कोई भी फसल नहीं उगती है। लिहाजा यहां के लोग मांस खाकर जिंदा रहते हैं।

बच्चे -50 डिग्री में भी जाते हैं स्कूल

इस गांव में रहने वाले लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बच्चे -50 डिग्री तापमान में भी स्कूल जाते हैं। 11 साल से बड़े बच्चों को ठंड से बचने के लिए -56 डिग्री सेल्सियस तापमान के नीचे ही घर में रुकने की अनुमति होती है।

यहां पर सर्दियों के मौसम में दिन का तापमान -45 से -50 डिग्री सेल्सियस तक होता है। दिसंबर में सुबह 10 बजे के करीब सुर्योदय होता है। ठंड के कारण हर चीज जम जाती है। ऐसे में गाड़ियों को हमेंशा स्टार्ट किए हुए रखना पड़ता है, ताकि बैट्री ना जमे।

सर्दियों के मौसम में जोड़ों के दर्द से चाहते हैं आराम, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय, जल्द मिलेगा आराम

इसके अलावा अलग-अलग तरह के मांस खाते हैं। सबसे अधिक रेंडियर और घोड़े के मांस के अलावा लोग स्ट्रोगनीना मछली को बहुत खाते हैं। जून-जुलाई के महीने में यहां का तापमान 20 डिग्री सेल्सियस होता है, जबकि बाकी दुनिया के कई हिस्सों में भयंकर गर्मी पड़ती है। बता दें कि इस गांव को अंटार्कटिका के बाहर दुनिया की सबसे ठंडी जगह माना जाता है। साल 1924 में इस जगह का तापमान -71.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था। 2018 के आंकड़ों के मुताबिक, इस गांव की की आबादी 500 से 900 है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned