Turkmenistan: राष्ट्रपति गुरबांगुली ने सड़क पर लगवाई अपने पसंदीदा कुत्ते की 50 फीट ऊंची 'सोने की मूर्ति'

HIGHLIGHTS

  • Turkmenistan President Gurbanguly Berdymukhamedov Favourite Dog Statue: तुर्कमेनिस्तान के शासक गुरबांगुली बेर्दयमुखमेदोव ने राजधानी अश्गाबात में अपने पसंदीदा कुत्ते की 50 फीट ऊंची 'सोने की मूर्ति' लगवाई है।
  • इससे पहले साल 2015 में अपनी ही सोने की मूर्ति बनवाई थी और जनता को सबसे ताकतवर होने के सुबूत दिए थे।

अश्गाबात। पूरी दुनिया में सड़कों और चौक-चौराहों पर आपने कई लोगों, हाथी, घोड़े या शेर की मूर्तियां लगी देखीं होंगी। अपने-अपने आदर्श और पसंद के अनुसार कई संगठन या लोग इन मूर्तियों को लगाते हैं। लेकिन कई बार कुछ ऐसी मूर्तियां होती हैं, जिसको लेकर या तो विवाद का विषय बन जाता है या फिर चर्चा का।

ऐसा ही एक मूर्ति तुर्कमेनिस्तान की राजधानी अश्गाबात की सड़क पर देखने को मिला है, जो काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल, तुर्कमेनिस्तान के सनकी तनाशाह शासक गुरबांगुली बेर्दयमुखमेदोव ( Turkministan President Gurbanguly Berdymukhamedov ) ने अपने पसंदीदा कुत्ते की 50 फीट ऊंची 'सोने की मूर्ति' ( Turkmenistan President Dog Golden Statue ) लगवाई है।

तुर्कमेनिस्तान कोरोना को नहीं मानता कोई बीमारी, भारी संख्या में जुट रहे हैं लोग

गुरबांगुली ने यह मूर्ति राजधानी अश्‍गाबात के नए नवेले इलाके के मध्‍य में बनाई है। बुधवार को गुरबांगुली ने कुत्ते की इस विशाल मूर्ति का अनावरण किया। 2007 से सत्ता पर काबिज गुरबांगुली का यह पसंदीदा कुत्ता तुर्कमेन अलबी प्रजाति का है। इस मूर्ति को खास तौर पर कांसे से तैयार किया गया, जिससे ये खराब नहीं होगी।

मूर्ति पर चढ़ाई गई है 24 कैरेट सोने की परत

बता दें कि राजधानी अश्गाबात में अधिकारियों के रहने के लिए एक नया इलाका बनाया गया है। इसी इलाके के एक चौराहे में अलबी प्रजाति के इस कुत्ते की 50 फुट ऊंची मूर्ति लगाई गई है। कुत्ते की इस मूर्ति पर 24 कैरेट सोने की परत चढ़ाई गई है। सिर्फ कुत्ते की बात करें तो इसकी ऊंचाई 20 फुट है।

इस देश की महिलाओं ने मिलकर कर दिया ऐसा कांड! जिसकी वजह से यहां बैन हैं काले रंग की कारें

दुनियाभर में अलबी प्रजाति के कुत्तों को खूब पसंद किया जाता है। इस नस्ल के कुत्ते सिर्फ तुर्कमेनिस्तान में ही मिलते हैं। इससे पहले 2015 में अपनी ताकतवर छवि को दिखाने के लिए गुरबांगुली ने अपनी खुद की सोने की एक बड़ी मूर्ति बनवाई थी।

मालूम हो कि तुर्कमेनिस्तान एक गरीब देश है और वहां की जनता गरीबी में जीने को मजबूर है, लेकिन सनकी शासक गुरबांगुली अपने और कुत्ते की सोने की मूर्ति लगवा रहे हैं। तुर्कमेनिस्तान में तेल और प्राकृतिक गैस का पर्याप्त भंडार है, लेकिन इसका फायदा सिर्फ पूंजीपति ही उठा रहे हैं।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned