UN महासचिव ने दी बड़ी चेतावनी, इन चार देशों पर मंडरा रहा अकाल पड़ने का खतरा

Highlights

  • संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के अनुसार महामारी की वजह से अर्थव्यवस्था (Economy) में भारी गिरावट आई है।
  • इसका असर खाद्य सुरक्षा और कृषि उत्पादन पर पड़ा है, चरमपंथी इसका लाभ उठा सकते हैं।

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस (Antonio Guterres) ने बड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि दुनिया के चार देश गंभीर समस्या का सामना करने वाले हैं। संघर्ष प्रभावित कांगो,यमन,दक्षिणी सूडान और पूर्वोत्तर नाइजीरिया (Nigeria) में अकाल और खाद्य असुरक्षा का संकट उत्पन्न होने वाला है। इससे लाखों लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ सकती है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने एक बयान के अनुसार चार देश दुनिया के खाद्य संकट की सूची में सबसे ऊपर है। उन्होंने ये जानकारी हालिया खाद्य सुरक्षा विश्लेषण—2020 से मिली सूचना के आधार पर दी है। उन्होंने कहा कि इससे निपटने के लिए बहुत कम कोष मुहैया कराया गया है।

गुतारेस के अनुसार अब कार्रवाई करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वर्षों से संघर्ष से घिरे डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो, यमन, पूर्वोत्तर नाइजीरिया और दक्षिणी सूडान में खाद्य सुरक्षा का गंभीर संकट देखने को मिल रहा है। वे संभावित अकाल का सामना करने के मुहाने पर आ चुके हैं। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के अनुसार सोमालिया, बुर्किना फासो और अफगानिस्तान समेत कई अन्य संघर्षशील ग्रस्त देशों में गिरावट आ रही है।

अर्थव्यवस्था में गिरावट

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता प्रमुख मार्क लोकॉक का कहना है कि महामारी के कारण यहां की अर्थव्यवस्था में भारी गिरावट देखने को मिल रही है। इसका सबसे बड़ा असर खाद्य सुरक्षा और कृषि उत्पादन पर भी पड़ा है और चरमपंथी इसका लाभ उठा सकते हैं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned