वेनजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को हटाने में लगा अमरीका, रखा 1.5 करोड़ डॉलर का इनाम

Highlights

  • अमरीकी विदेश मंत्री पोम्पियो ने पुरस्कार की घोषणा की।
  • मादुरो की गिरफ्तारी लायक सूचना देने पर इनाम मिलेगा।
  • 'नार्को टेररिज्म' के लिए दोषी ठहराया है।

वाशिंगटन। अमरीका लगातार वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को हटाने का प्रयास कर रहा है। उसने मादुरों से जुड़ी सूचना को शेयर करने क लिए इनाम देने की घोषणा की है। अमरीका का कहना है कि मादुरों की गिरफ्तारी लायक कोई सूचना देने पर 1.5 करोड़ डॉलर का इनाम मिलेगा। पोम्पियो ने पुरस्कार की घोषणा न्याय विभाग द्वारा मादुरो के खिलाफ मामले के खुलासे के बाद की।

दरअसल, अमरीका वेनेजुएला के विपक्षी नेता जुआन गुएडो को सत्तारूढ़ होने में मदद कर रहा है। अमरीकी विदेश मंत्री पोम्पियो ने बयान में कहा कि वेनेजुएला की जनता पारदर्शी, जवाबदेह और प्रतिनिधित्व वाली सरकार चाहती है। जनता ऐसी सरकार चाहती है जो लोगों की सेवा करे और जो सरकारी अधिकारियों के जरिए मादक पदार्थों की अवैध तस्करी में शामिल होकर लोगों का भरोसा न तोड़े।'

2013 से सत्‍ता पर आसीन हुए थे मादुरो

अमरीकी सरकार ने वेनेजुएला के राष्‍ट्रपति निकोलस मादुरो और अन्‍य अधिकारियों को 'नार्को टेररिज्म' के लिए दोषी ठहराया है। माना जा रहा है कि मादुरो प्रशासन पर दबाव बनाने के लिए अमरीका ने यह कदम उठाया है। राष्‍ट्रपति मादुरो वर्ष 2013 से सत्‍ता पर आसीन हुए। अमरीका का आरोप है कि मादुरो कोलंबिया के गुरिल्‍ला समूह फार्क का साथ देकर बड़ी साजिश रच रहे हैं।

अमरीकी सरकार के मुताबिक फार्क अमरीका में कोकीन की बड़े पैमाने पर तस्‍करी कर रहा है। किसी राष्‍ट्राध्‍यक्ष की गिरफ्तारी पर इनाम घोषित करना अपने आप में एक बड़ा मामला है। दरअसल, अमरीकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप वेनेजुएला की नीति की सफलता को लेकर नाखुश हैं। अमरीका और कई अन्‍य देशों ने वेनेजुएला के विपक्षी नेता जुआन गुआइडो को कानूनी रूप से राष्‍ट्रपति घोषित किया है। हालांकि मादुरो अभी भी सत्‍ता में बने हुए हैं। उन्‍हें देश की सेना, रूस, चीन और क्‍यूबा का साथ मिल रहा है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned