बाइडन-हैरिस लेंगे आज शपथ, अमरीका करेगा बाय ट्रंप

  • सुबह 11.30 बजे (रात 10 बजे ) लेंगे शपथ, डॉनल्ड ट्रंप नहीं होंगे शामिल
  • हिंसा को रोकने के लिए व्यापक सुरक्षा

वॉशिंगटन. अब से कुछ घंटे बाद जो बाइडन अमरीका के 46वें राष्ट्रपति और भारतंवशी भारतवंशी कमला हैरिस 49वें उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करेंगी। अमरीकी की राजधानी वॉशिंगटन स्थित संसद भवन कैपिटल हिल में शपथ ग्रहण कार्यक्रम होगा। इस दौरान किसी तरह की हिंसा या विरोध को रोकने के लिए 25 हजार नेशनल गार्ड के जवान सुरक्षा में तैनात किए गए हैं। शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रगान के साथ सुबह 11 बजकर 30 मिनट (भारतीय समयानुसार बुधवार रात 10 बजे) से शुरू होगा। परम्परा के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जॉन रॉबट्र्स बाइडन को राष्ट्रपति पद की व कमला हैरिस को बाइबल पर हाथ रखकर सुप्रीम कोर्ट की जज सोनिया सोटोमेयर उपराष्ट्रपति पद की शपथ दिलाएंगी। इसके बाद जो बाइडन देश के लोगों को संबोधित कर सकते हैं। गौरतलब है कि डॉनल्ड ट्रंप शपथ ग्रहण समारोह में आने से पहले ही इनकार कर चुके हैं। उप राष्ट्रपति माइक पेंस के कार्यक्रम में शामिल होने की उम्मीद है। इसका लाइव प्रसारण भी देखा जा सकेगा।

सुरक्षा
25 हजार कुल नेशनल गार्ड के जवान सुरक्षा के लिए मुस्तैद किए
15 हजार संसद भवन के पास व अंदर सुरक्षा के लिए तैनात किए
5 हजार पुलिस अधिकारियों को सीक्रट सर्विस ने सुरक्षा में लगाया

कब लेंगे शपथ
- सुबह 11:30 बजे (रात 10:00 बजे भारतीय समयानुसार)

कहां पर
कैपिटल बिल्डिंग के पश्चिमी गेट के सामने।

कितने लोग लेंगे हिस्सा
- 200 लोग मंच पर शारीरिक दूरी का पालन करते हुए बैठेंगे। सभी की कोरोना जांच व मास्क लगाए रहेंगे।
- 1,000 टिकट जारी किए गए है आम लोगों के लिए शपथ ग्रहण समारोह में, पहले 2 लाख टिकट जारी होते थे।

रंगारंग कार्यक्रम
- मशहूर गायिका जेनिफर लोपेज परफॉर्म करेंगी। लेडी गागा राष्ट्रगान करेंगी।
- 90 मिनट के प्राइमटाइम टेलीविजन कार्यक्रम की मेजबानी करेंगे शपथ अभिनेता टॉम हैक्स। जॉन बॉन जोवी, डेमी लोवाटो और जस्टिन टिम्बरलेक शामिल होंगे।

तमिल संस्कृति की भी झलक
- 1,800 लोग मिलकर कैपिटल हिल्स के बाहर रंगोली बनाएंगे। हैरिस के पैतृक स्थान तमिलनाडु में यह खुशी का प्रतीक है।
- 20 महत्त्वपूर्ण पदों पर राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपनी टीम में नामित किया है, इससे वहां भारतीयों में गजब का उल्लास है।

शपथ ग्रहण के बाद...
जो बाइडेन कैपिटल के पूर्वी हिस्से में सेना के सदस्यों से सलामी लेंगे। अमरीकी राष्ट्रपति सेना का कमांडर-इन-चीफ होता है।
राष्ट्रपति बाइडन, पत्नी, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस व उनके पति, पूर्व राष्ट्रपतियों बराक ओबामा, जॉर्ज डब्ल्यू बुश व बिल क्लिंटन पत्नियों के साथ, अर्लिंगटन स्थित राष्ट्रीय कब्रिस्तान में सैनिकों की कब्र पर फूल चढ़ाएंगे।
बाइडेन को पारंपरिक राष्ट्रपति एस्कॉर्ट करते हुए 15वीं स्ट्रीट से लेकर राष्ट्रपति के आधिकारिक निवास व्हाइट हाउस तक ले जाएगा। जहां उद्घाटन परेड होगी।

20 जनवरी को क्यों
अमरीकी संविधान के अनुसार नवंबर के पहले मंगलवार को राष्ट्रपति पद का चुनाव होना तय है। 20 जनवरी को नवनिर्वाचित राष्ट्रपति को शपथ दिलाई जाती है।

2.5 माह बाद शपथ
नवनिर्वाचित राष्ट्रपति अपनी टीम तैयार करता है। कैबिनेट से लेकर प्रशासनिक अधिकारियों की नियुक्ति करता है। 1937 से पहले शपथ ग्रहण 4 मार्च को होता था।

ट्रंप परंपरा तोड़ने वाले चौथे राष्ट्रपति
निवर्तमान राष्ट्रपति नए राष्ट्रपति को बधाई देता है और समारोह के लिए एक साथ जाते हैं। जॉन एडम्स, जॉन क्विंसी एडम्स और एंड्रयू जॉनसन के बाद ट्रंप यह परंपरा तोडऩे जा रहे हैं। वह 20 जनवरी को सुबह संयुक्त सैन्य बेस एंड्रयूज से विदा लेकर फ्लोरिडा में अपने निवास मार-ए-लागो रवाना होंगे।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned