पानी के बाहर चार दिनों तक जीवित रह सकती है यह मछली, अमरीका इसे खत्म करना चाहता है

पानी के बाहर चार दिनों तक जीवित रह सकती है यह मछली, अमरीका इसे खत्म करना चाहता है

Mohit Saxena | Publish: Oct, 12 2019 01:58:06 PM (IST) | Updated: Oct, 12 2019 01:58:58 PM (IST) विश्‍व की अन्‍य खबरें

  • यह मछली जमीन पर आवाजाही भी कर सकती है
  • इसकी आबादी अगर बढ़ती है तो इससे फूड वेब पर असर पड़ेगा

वाशिंगटन। अमरीका के जॉर्जिया में इस महीने की शुरुआत में एक रहस्यमय मछली सामने आई है। इसे स्नेक फिश कहा जाता है। यह मछली पूरे चार दिन तक पानी से दूर जमीन पर जीवित रह सकती है। साथ ही यह जमीन पर आवाजाही भी कर सकती है। जॉर्जिया डिपार्टमेंट ऑफ नेचुरल रिसोर्सेज़ के वाइल्‍डलाइफ रिसोर्सेज़ डिवीजन के अनुसार इसे जॉर्जिया के ग्विनेट काउंटी पॉन्‍ड से पकड़ा गया है।

पहली बार यह मछली जॉर्जिया के जलस्रोत से प्राप्त हुई है। इसकी जमीन पर जीवित रहने क्षमता के बावजूद अमरीका इसे मारना चाहता है। जॉर्जिया प्रांत के अधिकारी नहीं चाहते है कि यह मछली जीवित रहे।

जीवन तंत्र के लिए खतरा

दरअसल अमरीकी जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक सांप जैसे मुंह के आकार की यह मछली जिस भी जल स्रोत में रहती है, वहां आसपास में जीवन तंत्र को प्रभावित करती है। इस मछली के कारण साथ में रहने वाले अन्‍य जल जीवों पर भी इसका असर पड़ता है। इसकी आबादी अगर बढ़ती है तो इससे फूड वेब पर सर्वाधिक नकारात्‍मक असर पड़ता है।

मछली से इस खतरे के कारण ही जॉर्जिया के वन्‍यजीव अधिकारी इसे यहां पनपने से रोकना चाहते हैं। वह पता लगा रहे हैं कि क्या मछली की प्रजाति जार्जिया में अन्य जगह पर भी पनप रही है। डिपार्टमेंट में लोगों से भी कहा है कि वह यह सीख लें कि किस तरह से मछली को पहचानना है या इसकी सूचना डिपार्टमेंट को देना है।

सूखे की स्थिति में भी रहती है जिंदा

यह मछली तीन फीट तक बड़ी और आठ किलोग्राम वजनी है। इसके शरीर में फेफड़े की तरह खास लैंडर नामक अंग होता है। इसे सांस लेने में आसानी होती है। इस कारण यह एक जलस्रोत से निकलकर दूसरे जलस्रोत तक जमीन के रास्ते जा सकती है। यह चार दिन तक बिना पानी में रहे जमीन पर जीवित रह सकती है। सूखे की स्थिति में यह कीचड़ में भी जीवित रह सकती है। इस मछली को 2002 के पहले तक बाजार में खाने के लिए भी बेचा जाता था। बाद में अमरीका ने इस पर प्रतिबंध लगा दिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned