चीन से तकरार के बीच अमरीका ने प्रशांत महासागर में लेजर हथियार का किया सफल परीक्षण

HIGHLIGHTS

  • अमरीका ( America ) ने प्रशांत महासागर ( Pacific Ocean ) में एक लेजर हथियार ( Laser weapon ) का सफल परीक्षण किया है
  • अमरीका की पैसिफिक फ्लीट ( US Pacific fleet ) की ओर से परीक्षण का एक वीडियो भी जारी किया गया है
  • यह हथियार अमरीका की नेवी वॉरशिप ने तैयार किया

 

वाशिंगटन। अमरीका और चीन में लगातार तकरार काफी बढ़ता जा रहा है। अब इसका असर कई क्षेत्रों में दिखने लगा है। प्रशांत महासागर में दबदबा कायम करने को लेकर दोनों ही देशों में कई बार टकराव की स्थिति देखने को मिली है। अब एक बार फिर से कुछ ऐसा ही प्रतीत है रहा है।

दरअसल, अमरीका ने प्रशांत महासागर में एक लेजर हथियार का सफल परीक्षण किया है। यह लेजर हथियार अपने टारगेट को हवा में ही मार गिराने में सक्षम है। इसको लेकर अमरीका की पैसिफिक फ्लीट की ओर से एक वीडियो भी जारी किया गया है।

अब कोरोना की वैक्सीन पर भी होड़, अमरीका के बाद चीन में सफल टेस्टिंग का दावा

यह हथियार अमरीका की नेवी वॉरशिप ने तैयार किया है। यह एक ऐसा हथियार है जो अपने टारगेट को हवा में ही मारने की ताकत रखता है। इसमें सबसे खास बात ये है कि यह एक हाई-एनर्जी लेजर हथियार है। लेजर की किरण यानी रे आंखों को दिखाई नहीं देती हैं, सीधे असर करती हैं।

पैसिफिक फ्लीट ने किया टेस्ट का ऐलान

आपको बता दें कि इस टेस्ट का ऐलान अमरीकी नेवी के पैसिफिक फ्लीट ने किया है। फ्लीट ने इसका एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में USS पोर्टलैंड डॉक शिप टेस्टिंग करते हुए देख रहा है। जानकारी के अनुसार, इसमें फर्स्ट सिस्टम-लेवल की हाई-एर्जी क्लास सॉलिड-स्टेट लेजर का इस्तेमाल किया गया है।

यह लेजर हथियार हवा में ड्रोन एयरक्राफ्ट को मार सकता है। चूंकि लेजर आंखों को दिखाई नहीं देता है, लेकिन सेंसर के जरिए इसकी भी पहचान की जा सकती है। इससे पहले जब चीन ने अमरीकी क्राफ्ट को निशाना बनाया था तब विमान के सेंसर ने लेजर को डिटेक्ट किया था।

पाकिस्तान का हमदर्द बना अमरीका! चीन से किया आग्रह, कहा- कोरोना के कारण माफ कर दें PAK का कर्ज

फरवरी में फिलीपीन सी में गुआम में 380 मील पश्चिम की तरफ चीन की ओर से अमेरिकी क्राफ्ट को निशाना बनाया गया था। इसके बाद अमरीकी नेवी ने कहा था कि लेजर के इस्तेमाल से क्रू और मरीन सैनिकों को नुकसान हो सकता है।

अमरीका ने दिया चीनी हमले का जवाब!

माना जा रहा है कि यह टेस्ट चीनी हमले का जवाब देने के उद्देश्य से किया गया है। इस साल की शुरुआत में चीन के नेवी डिस्ट्रॉयर ने अमरीका के नीव मैरिटाइम पट्रोल एयरक्राफ्ट को लेजर बीम से निशाना बनाया था।

लिहाजा अमरीका ने अब लेजर हथियार का सफल परीक्षण कर चीन को जवाब दिया है। दोनों ही देशों में साउथ चाइना सी को लंबे समय से तनावपूर्ण हालात हैं।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned