अमरीका ने युद्धाभ्यास में चीन को दिए निमंत्रण को वापस लिया

अमरीका ने 2018 के रिम ऑफ द पैसिफिक सैन्याभ्यास से बाहर कर दिया है।

नई दिल्ली। अमेरिका ने विश्व के सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय समुद्री सैन्याभ्साय में शामिल होने के लिए चीन को भेजे गए निमंत्रण को वापस ले लिया है। इसकी घोषणा पेंटागन ने की। पेंटागन के प्रवक्ता ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा कि चीन का रुख आरआईएमपीएसी सैन्याभ्यास के सिद्धांतों और उद्देश्यों के विरुद्ध है। इसलिए चीन की नौसेना को 2018 के रिम ऑफ द पैसिफिक सैन्याभ्यास से बाहर कर दिया गया है।

चीन के इस्लामिक संगठन का फरमान-देशभक्ति जगाने के लिए मस्जिदों पर फहरे राष्ट्रीय ध्वज

20 से अधिक देश हिस्सा लेते हैं

आरआईएमपीएसी सैन्याभ्यास का हवाई में हर साल में आयोजन किया जाता है। इसमें भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान और ब्रिटेन सहित दुनियाभर के 20 से अधिक देश हिस्सा लेते हैं। अमेरिका के रक्षा मंत्री जेम्स मैट्टिस और व्हाइट हाउस के फैसले के तहत चीन को भेजे जाने वाले आमंत्रण को वापस ले लिया गया है।

ट्रेड पैक्‍ट: ट्रंप के सामने जिनपिंग की अकड़ पड़ी ढीली, भारत को मिलेगा फायदा

दक्षिण चीन सागर में सैन्य घुसपैठ से खफा

दक्षिण चीन सागर में चीन की घुसपैठ को लेकर अमरीका ने हमेशा इसके खिलाफ आवाज उठाई है। उसने चीन की इस हरकत को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भी साथ लाने की कोशिश की है। उसका कहना है चीन अगर इस क्षेत्र में अपना हक जमाएगा तो अमरीका इसका करारा जवाब देगा। गौरतलब है कि चीन यहां पर कई व्यवसायिक गतिविधियों में शामिल है। वह इस क्षेत्र को अपना बनाने के लिए निर्माण कार्य भी कर रहा है। यह क्षेत्र में खनिज पद्दार्थ भरपूर है। ऐसे में अमरीका भी दक्षिण चीन सागर को महत्वपूर्ण मानता है। उसका मानना है कि चीन इस क्षेत्र में अगर अपना कब्जा जमा लेता है तो वह कई पड़ोसी राज्यों पर हावी होगा। इसके साथ उसकी ताकत दोगुनी हो जाएगी।

किम जोंग-डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात पर संकट के बादल, टल सकती है प्रस्तावित बैठक

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned