VIDEO: क्रिस्‍टीन फेयरी बोलीं, सीपीईसी से बलूचिस्‍तान में बढ़ा मानव अधिकारों का उल्‍लंघन

चीन-पाकिस्‍तान सीपीईसी से परियोजना से बलूचों का उत्‍पीड़न बढ़ा।

By: Dhirendra

Published: 15 Mar 2019, 01:57 PM IST

विश्‍व की अन्‍य खबरें

नई दिल्‍ली। अमरीकी विद्वान क्रिस्‍टीन फेयर ने कहा है कि सीपीईसी चीन के लिए आर्थिक नहीं बल्कि भू-रणनीतिक परियोजना है। क्रिस्टीन फेयर का मानना है कि मल्‍टी बिलियन डॉलर वाला यह गलियारा चीन और पाकिस्तान के लिए एक आर्थिक गलियारा नहीं है बल्कि चीनी सेना की दुनिया भर में पहुंच बढ़ाने के लिए एक भू-रणनीतिक परियोजना है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 40वें सत्र के दौरान 'आर्थिक विकास और मानव संसाधन परिणाम: सीपीईसी से बलूचिस्तान की बर्बादी क्‍यों' विषय पर उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान में सीपीईसी परियोजना पर काम शुरू होने के बाद से वहां पर मानवाधिकारों उल्‍लंघन के मामलों में काफी इजाफा हुआ है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned