विजयलक्ष्मी पंडित को अपनी प्रेरण का स्रोत मानती हैं यूएन महासभा की अध्यक्ष

विजयलक्ष्मी पंडित को अपनी प्रेरण का स्रोत मानती हैं यूएन महासभा की अध्यक्ष

वह अपने कार्यालय में उनकी तस्वीर लगाने की योजना बना रही हैं,विजयलक्ष्मी यूएनजीए की पहेली महिला अध्यक्ष थीं

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासभा की अध्यक्ष मारिया फर्नांडा एस्पिनोसा विजयलक्ष्मी पंडित को अपनी प्रेरणा का स्रोत मानती हैं। उनका कहना है कि वह अपने कार्यालय में उनकी तस्वीर लगाने की योजना बना रही हैं। भारतीय मूल के सांसद सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के प्रेम दास राय ने यह जानकारी शुक्रवार को मीडिया को दी। विजयलक्ष्मी यूएनजीए की पहेली महिला अध्यक्ष और जवाहर लाल नेहरू की बहन थीं।

पापा की सीट पर बैठी कनाडा के पीएम की बेटी, सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीर

महासभा की अध्यक्ष बनने वाली एस्पिनोसा चौथी महिला

एस्पिनोसा ने सांसदों के एक समूह से कहा कि उन्हें संयुक्त राष्ट्र में पंडित के बेहतरीन कार्यों से प्रेरणा मिलती है। संयुक्त राष्ट्र महासभा की अध्यक्ष बनने वाली एस्पिनोसा चौथी महिला हैं। विजयलक्ष्मी पंडित जवाहर लाल नेहरू की बहन थी। वह 1953 में संयुक्त राष्ट्र महासभा की अध्यक्ष निर्वाचित हुई थी। राय ने कहा कि एस्पिनोसा ने उन्हें बताया कि वह भारतीय लोकतंत्र का सम्मान करती हैं और वह भारत को एक ऐसा देश समझती हैं,जिससे प्रेरणा ली जा सकती है। विजयलक्ष्मी पंडित के पद संभालने के 16 साल बाद लाइबेरिया की एंजी एलिजाबेथ ब्रूक्स 1969 में यूएनजीए की अध्यक्ष बनी थीं। इसके 37 साल बाद बहरीन की शेख हाया रशद अल खलिफा 2006 में यूएनजीए अध्यक्ष बनीं।

पाकिस्तान: कसूर रेप और मर्डर मामले में आरोपी इमरान अली को अगले सप्ताह होगी फांसी

आजादी के आंदोलनों में भाग लिया

विजयलक्ष्मी पंडित का जन्म 18 अगस्त 1900 को गांधी-नेहरू परिवार में हुआ था। उनकी शिक्षा-दीक्षा मुख्य रूप से घर में ही हुई। 1921 में उन्होंने काठियावाड़ के सुप्रसिद्ध वकील रणजीत सीताराम पंडित से विवाह लिया। गांधीजी से प्रभावित होकर उन्होंने आज़ादी के लिए आंदोलनों में भाग लेना शुरू कर दिया। इस दौरान वह जेल भी गईं। एक दिसंबर 1990 को उनका निधन हो गया। वो भारत के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की बहन थी,जिनकी पुत्री इंदिरा गांधी लगभग 13 वर्षों तक भारत की प्रधानमंत्री रहीं।

Ad Block is Banned