Coronavirus: क्या होता है टोटल लॉकडाउन, जानिए इससे जुड़ी हर जानकारी

  • पीएम मोदी ने देश में 21 दिनों के लिए टोटल लॉकडाउन का ऐलान किया।
  • लॉकडाउन और टोटल लॉकडाउन भी है अलग-अलग।
  • जानिए क्या है इनमें अंतर और जरूरत।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर दुनियाभर में मंडराते खतरे के बीच पीएम मोदी ने पहले रविवार को जनता कर्फ्यू लागू करने का संदेश देश को दिया। इसके बाद मंगलवार को आगामी 21 दिनों के लिए पूरे देश में टोटल लॉकडाउन का ऐलान कर दिया। यह किसी कर्फ्यू से कम नहीं होगी। ऐसे में लॉकडाउन और टोटल लॉकडाउन में क्या अंतर होता है और इनमें लोगों को किन चीजों की अनुमति होती है या नहीं होती है, के बारे में जानना बहुत जरूरी है।

क्या है लॉकडाउन

लॉकडाउन एक अंग्रेजी शब्द है। वेबस्टर डिक्शनरी के मुताबिक, "यह एक आपातकालीन उपाय या स्थिति है जिसमें लोगों को किसी खतरे के खतरे के दौरान अस्थायी रूप से प्रतिबंधित क्षेत्र या इमारत (जैसे स्कूल) में प्रवेश करने या छोड़ने से रोका जाता है।"

कोरोना वायरस पर वैज्ञानिकों का बड़ा खुलासा, बताया- भारत में कब चरम पर पहुंचेगी यह महामारी? #Coronavirus #India

आम भाषा में यह एक आपातकालीन व्यवस्था है। यदि आपातकालीन परिस्थितियों में किसी क्षेत्र को लॉकडाउन किया जाता है तो इसका सीधा मतलब कि लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती।

लॉकडाउन में किस बात की है अनुमति

इस दौरान लोगों को आवश्यक चीजों-कामों के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति मिल सकती है। जैसे अनाज-दूध-दवा-मेडिकल इमरजेंसी-बैंक आदि के लिए निकलना जरूरी है, तो बाहर जाने की छूट दी जा सकती है। इसके अलावा बुजुर्गों-छोटे बच्चों की देखभाल के लिए भी ऐसी अनुमति दी जा सकती है।

कब किया जाता है लॉकडाउन

कभी आपातकालीन परिस्थितियों में, किसी खतरे से बचाने के लिए या फिर किसी इलाके को बचाने के लिए लॉकडाउन किया जाता है। फिलहा? कोरोना वायरस ? के खतरे से बचाने के लिए दुनिया में तमाम जगहों पर यह कदम उठाया जा रहा है।

आपकी जेब में रखे करेंसी नोट से भी है कोरोना वायरस का खतरा, आरबीआई ने जारी की एडवायजरी #Coronavirus

कोरोनावायरस को लेकर लॉकडाउन क्यों

क्योंकि यह संक्रामक रोग है और जितनी तादाद में लोग मिलेंगे, संक्रमण उतना ज्यादा फैलेगा। इसलिए इसका प्रसार रोकने के लिए लोगों को घरों में ही रहने के लिए कहा जा रहा है।

टोटल लॉकडाउन

टोटल लॉकडाउन का मतलब पूरी तरह घर में बंद रहने का आदेश है। इसके अंतर्गत कोई भी तब तक घर से बाहर नहीं निकलेगा जब तक उसे कोई अति आवश्यक या आपातकालीन जरूरत ना हो। इस आदेश का उल्लंघन करते पाए जाने पर कानूनी कार्यवाही का भी प्रावधान है।

क्या हैं टोटल लॉकडाउन में निर्देश

  • टोटल लॉकडाउन में किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी।
  • जिले की सभी सीमाएं सील की जाती हैं। किसी भी माध्यम सड़क एवं रेल से जिले की सीमा में बाहरी लोगों का आगमन प्रतिबंधित किया जाता है।
  • जिले में निवासरत नागरिकों को भी जिले की सीमा से बाहर जाना तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित।
  • जिले के समस्त शासकीय, अर्धशासकीय कार्यालय बंद किए जाते हैं।

Big News: coronavirus s को लेकर पीएम मोदी की बड़ी घोषणा, 1 लाख रुपये का इनाम देने का ऐलान

टोटल लॉकडाउन में किन्हें छूट

  • अत्यावश्यक सेवा वाले विभाग जैसे राजस्व, स्वास्थ्य, पुलिस, विद्युत, दूरसंचार, नगर पालिका, पंचायत आदि को इससे छूट रहेगी।
  • मेडिकल स्टोर, हॉस्टिपटल, सब्जी, किराना दुकान, दूध की दुकान, सॉची पॉलर, पेट्रोल पंब को छोड़कर शेष सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

बड़ी खबर: दिग्गज अमरीकी एक्सपर्ट ने दूर किए 10 मिथक #Coronavirus #CoronaMyths

कब इन प्रतिबंधों से छूट दी जाएगी

  • इमरजेंसी ड्यूटी वाले शासकीय कर्मचारी केवल ड्यूटी के प्रायोजन से टोटल लॉकडाउन के प्रतिबंधन से मुक्त रहेंगे, लेकिन उक्त कर्मचारियों को अपने साथ आईकार्ड रखना अनिवार्य है।
  • घर-घर जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता एवं न्यूज पेपर हॉकर सुबह 6.30 बजे से 9.30 बजे तक टोटल लॉकडाउन से मुक्त रहेंगे।
  • अगर किसी व्यक्ति को घर से बाहर निकलना हो या जिले से बाहर निकला हो या जिले के बाहर से जिले में प्रवेश करना आवश्यक हो तो संबंधित थानाक्षेत्र से निर्धारित फॉर्मेट में पास प्राप्त करने पर ही अनुमति होगी।
  • मास्क, सैनेटाइजर, दवाइयां, आवश्यक वस्तुओं के परिवहन में लगने वाहनों का प्रवेश एवं निकासी जारी रहेगी।
  • आवश्यक वस्तुओं, दवाइयों आदि का उत्पादन करने वाले उद्योगों एवं उनमें काम करने वाले कर्मचारियों को जिलाधिकारी/एडीएम/एसडीएम कार्यालय से अनुमति प्राप्त करने पर ही उपरोक्त प्रतिबंधों से छूट मिलेगी।

क्या होगी कार्यवाही

यह सभी आदेश आम जनता के लिए जारी किए गए हैं। इन आदेशों का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कार्यवाही की जाएगी।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned