विश्व की सबसे बड़ी समुद्री सफाई योजना का शुभारंभ, 24 साल के लड़के ने पेश की मिसाल

विश्व की सबसे बड़ी समुद्री सफाई योजना का शुभारंभ, 24 साल के लड़के ने पेश की मिसाल

प्रदूषण और वातावरण में बदलाव की समस्या से पूरी दुनिया चिंतित है।

सैन फ्रांसिस्को। प्रदूषण और वातावरण में बदलाव की समस्या से पूरी दुनिया चिंतित है। इससे निपटने के लिए विश्वभर में हर कोई अपने-अपने स्तर पर नए प्रयोग कर रहा है। इसी क्रम में एक बड़ी खबर सामने आ रही है। दरअसल शनिवार को समुद्र को साफ कर उसे प्रदूषण-मुक्त बनाने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा और महत्वकांक्षी अभियान लॉन्च किया गया। 'अोशियन क्लीनअप' नाम के इस अभियान के पीछे का मास्टरमाइंड नीदरलैंड के 24 वर्षीय बॉयन स्लेट हैं।

समुद्री कचरे को इस तकनीक से किया जाएगा साफ

इस अभियान के तहत समुद्र में यू आकार का 2000 फुट का कलेक्शन सिस्टम डाला जाएगा जिसकी मदद से पानी में मिले कचड़े को अलग किया जा सकेगा। इस अभियान के तहत कैलिफॉर्निया से हवाई तक लगभग 600,000 किमी समुद्री क्षेत्र को साफ करने का लक्ष्य है। आपको बता दें कि बॉयन और उनकी टीम पिछले आठ सालों से इस दिशा में काम कर रही है। शनिवार को लॉन्च हुए इस अभियान से उनका लक्ष्य हर साल समुद्र से करीब 50 टन कचरा साफ किया जा सके। यही नहीं समुद्र से निकाले जाने के बाद उन प्लास्टिक के कचरों को रिसाइकल करने की भी प्लानिंग है।

16 साल की उम्र में ही आया था इस समस्या से उभरने का ख्याल

8 सितंबर को शुरू हुए इस अभियान की बीज अाज से आठ साल पहले ही बो दी गई थी। ये विचार बॉयन के दिमाग में तब आया जब वो समुद्री रास्ते से ग्रीस पहुंचे थे। उस वक्त उनकी उम्र मात्र 16 साल थी लेकिन समुद्र में फैले प्लास्टिक के जाल ने उन्हें अंदर तक झकझोर दिया। उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए बताया कि 'पूरे रास्ते पानी में मछलियों से ज्यादा प्लास्टिक का कचरा देख मुझे बहुत दुख हुआ था।' बॉयन ने तभी ठान लिया था कि वो इसके लिए जरूर कुछ करेंगे।

आठ सालों से 80 लोगों की मदद से इस दिशा में काम

पिछले आठ सालों से वो इसी सोच में हैं कि आखिर वो क्या तरीका है, जिससे इस समस्या से निजात पाया जा सकता है। उनके इस लक्ष्य में साथ देने के लिए कई लोग उनके साथ जुड़ें। बता दें कि वर्तमान में करीब 80 लोग स्वैच्छिक तौर पर उनकी संस्था में काम कर रहे हैं।

और लोगों को साथ जोड़ने की इच्छा

बोयन और उनकी टीम चाहती है कि समुद्र को प्रदूषण और प्लास्टिक मुक्त बनाने में ज्यादा से ज्यादा लोगों के उनके साथ काम करे। उनका कहना है इससे समुद्री जीवों की भी सुरक्षित जिंदगी सुनिश्चित होगी।

Ad Block is Banned