Aarogya Setu App की Rating 2 से घटकर हुई 1, MIT ने बताई वजह

  • Aarogya Setu App Rating 2 से घटकर हुई 1
  • यूजर्स से मांगी जा रही ज्यादा जानकारी

By: Pratima Tripathi

Updated: 23 May 2020, 06:31 PM IST

नई दिल्ली। Aarogya Setu App को भारत में ट्रेन से लेकर फ्लाइट तक में सफर करने के लिए अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसे में अगर इस ऐप की रेटिंग ( Aarogya Setu App Rating ) कम हो जाए तो सुनने में जरा अजीब लेगा, लेकिन ये सच है कि एमआईटी ( MIT Global Technology Index Rating ) ने Aarogya Setu App की रेटिंग 2 से कम करके 1 कर दी है।

Aarogya Setu App की रेटिंग कम करने पर MIT का कहना है कि इस ऐप के जरिए भारत डेटा न्यूनता के पैरामीटर पर खरा नहीं उतरता है और एप्लिकेशन कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए अधिक जानकारी इकट्ठा करता है। इसके अलावा कहा कि कोरोनावायरस से जुड़ी जितनी जानकारी मिली सकती है उससे ज्यादा जानकारी यूजर्स से मांगी जा रही है। MIT ने कहा कि ऐसा करने के पीछे यूजर्स के डाटा को सुरक्षित रखना है और ये यकीन दिलाना होगा कि यूजर के डाटा को किसी थर्ड पार्टी के साथ शेयर नहीं किया जाएगा।

बता दें कि सरकार की तरह से अक्सर दावा किया जा रहा है कि इस ऐप में यूजर्स की प्रिवेसी का पूरा ध्यान रखा गया है। वहीं Aarogya Setu App को अब तक 100 मिलियन से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है और इसका इस्तेमाल 11 अलग-अलग भाषाओं में कर सकते हैं।Aarogya Setu एक ट्रैकिंग App है, जो स्मार्टफोन के लोकेशन डेटा और ब्लूटूथ के जरिए यूजर्स को अलर्ट जारी करता है।

29 मई को Infinix Hot 9 Series भारत में होगा लॉन्च, 5000mah की मिलेगी बड़ी बैटरी

हाल ही में Aarogya Setu App को JioPhone यानी KaiOS यूजर्स के लिए रोल आउट किया गया है। इसके अलावा Aarogya Setu App IVRS सर्विस भी शुरू की गयी है जो फीचर फोन और लैंडलाइन यूजर्स के लिए है। इस सर्विस के जरिए यूजर्स टॉल-फ्री नंबर ( 1921) पर मिस्ड कॉल करके कोरोनावायरस से जुड़ी जानकारी हासिल कर सकते हैं।

Pratima Tripathi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned