यूजर्स को 34 लाख रुपये देगा WhatsApp, जानिए क्या है इसके पीछे वजह

अब कंपनी ऐसे लोगों को 34 लाख रुपये ईनाम के तौर पर अदा करेगी जो लोग WhatsApp पर फैलने वाली अफवाह पर रिसर्च करके कंपनी को इसके बारे में जानकारी देंगे।

By: Vineet Singh

Published: 10 Jul 2018, 11:18 AM IST

नई दिल्ली: भारत में बीते कुछ दिनों के दौरान मॉब लिंचिंग की कई सारी घटनाएं हुई हैं जिसमें महज एक अफवाह की वजह से भीड़ ने कई लोगों को मौत के घाट उतार दिया है। बता दें कि WhatsApp के जरिए फैलने वाली अफवाहों पर लगाम लगाने के लिए कंपनी ने बड़ा ऐलान कर दिया है। दरअसल अब कंपनी ऐसे लोगों को 34 लाख रुपये ईनाम के तौर पर अदा करेगी जो लोग WhatsApp पर फैलने वाली अफवाह पर रिसर्च करके कंपनी को इसके बारे में जानकारी देंगे।

इस रिंग को पहनकर उंगलियों के इशारों से होगी चैटिंग, स्मार्टफोन निकालने की नहीं पड़ेगी जरूरत

घर में चोरी नहीं होने देता ये छोटा CCTV कैमरा, कीमत महज 1600 रुपये

भारत सरकार की तरफ से भी WhatsApp से इस सिलसिले में बात की गयी थी और जल्द इस दिशा में कोई बड़ा कदम उठाने को लेकर बात की गयी थी। सरकार की तरफ से मिली चेतावनी के बाद अब WhatsApp इस मामले को गंभीरता से ले रहा है। कंपनी अब ऐसे लोगों के साथ जुड़कर काम करेगी जो लोग मॉब लिंचिंग रोकने में कंपनी की मदद करेंगे।

BSNL ब्रॉडबैंड देगा अनलिमिटेड वैलिडिटी, Jio गीगाफाइबर को पछाड़ने के लिए तैयार किया प्लान

WhatsApp ने मॉब लिंचिंग रोकने के लिए भारत के बड़े शैक्षिक जानकारों को अपने साथ जोड़ने का फैसला कर लिया है। यह एक तरह की रिसर्च है जिसमें कंपनी ये पता लगाएगी कि आखिर ऐसी अफवाहें कैसे फैलती है। कंपनी ने बताया कि उनके साथ जुड़कर काम करने के लिए 12 अगस्त तक आवेदन किया जा सकता है। लेकिन कंपनी के साथ जुड़ने के लिए आपके पास PhD होनी जरूरी है। जिसके बाद सिलेक्शन की जानकारी 14 सितंबर तक लोगों को ईमेल पर दी जाएगी।

ये हैं 10 सबसे खतरनाक Password, हैक करवा सकते हैं आपका Social Media अकाउंट

सस्ता एंड्रॉयड स्मार्टफोन इस्तेमाल करते हैं तो हो जाए सावधान वरना पड़ जाएंगे मुसीबत में

Show More
Vineet Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned