आपके स्मार्टफोन में ये चीज दिखे तो समझ लें आ चुका है वायरस

स्मार्टफोन में कई चीजें अचानक से आने लगती है जिनको देखकर पता लग जाता है कि उसमें वायरस है

By: अनिल जांगिड़

Published: 15 Jan 2018, 11:07 AM IST

भारत से लेकर पूरी दुनिया में आजकल ज्यादातर लोग स्मार्टफोन करते हैं जिससें कई तरह के कार्य किए जाते है। हालांकि इसमें कई तरह के काम करने के साथ ही स्मार्टफोन की सुरक्षा को लेकर अलर्ट रहना पड़ता है। क्योंकि आजकल एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स पर वायरस का खतरा कई गुना बढ़ चुका है। इनमें से कई वायरस तो एप्स के जरिए ही आते हैं जिनका आपको पता भी नहीं चल पाता। गूगल प्लेस्टोर स्मार्टफोन में एप डाउनलोड करने का एक अच्छा प्लेटफॉर्म है, लेकिन यहां पर भी सभी सुरक्षित नहीं होते हैं जिसकी वजह से स्मार्टफोन्स में वायरस आ जाते हैं। ये वायरस आपके फोन में घुसकर निजी जानकारी चुराने समेत कई तरह से नुकसान पहुंचा सकते हैं।

 

स्मार्टफोन में वायरस को पहचान सकते हैं
एंड्रॉइड स्मार्टफोन यूजर्स अपने फोन में कई एप्स रखते है। लेकिन वायरस आने के बाद स्मार्टफोन में कुछ बदलाव आ जाते हैं। जिनको पहचानकर यह पता लगाया जा सकता है उसमें वायरस आया है या नहीं। यहां हम आपको बता रहे हैं उन्हीं चीजों के बारे में जिनको पहचानकर आप वायरस का पता लगा सकते हैं।

 

स्मार्टफोन की स्पीड स्लो होना
यदि आपको एंड्रॉयड स्मार्टफोन काफी स्लो चल कर रहा है तो समझ लें की व्हाट्सएप में वायरस है। फोन के स्लो होने के लक्षण बैटरी फुल होने के बाद भी कैमरा और ब्राउजिंग स्लो होने, टेक्स्ट मैसेज और टाइपिंग में भी स्लो होने लगती है।


डेटा की खपत बढ़ जाए
यदि अचानक ही इंटरनेट डेटा की खपत बढ़ने लगे तो समझ लें की किसी एप के बैक ग्राउंड में मौजूद वायरस की वजह से ऐसा हो रहा है।

 

हैंडसेट का गर्म होना
ब्राउजिंग नहीं करने के बावजूद भी फोन अपने आप गर्म होता है अथवा कॉलिंग और मैसेज के दौरान फोन गर्म हो रहा है तो एक संकेत है कि आपके फोन में वायरस आ चुका है।

 

बैटरी खर्च होना
अगर आपके फोन की बैटरी बहुत ही जल्दी खत्म हो रही है तो उसके बैक ग्राउंड में कोई वायरस चल रहा है।

 

पॉपअप ऐड्स और नोटिफिकेशन आना
यदि आपके स्मार्टफोन में बिना वजह के ही पॉपअप नोटिफिकेशन और ऐड्स नजर आ रहे हैं तो समझ लें की उसमें वायरस आ चुका है।


मोबाइल डेटा डिलीट होना
आपके स्मार्टफोन का रखे डेटा जैसे वीडियो, इमेज अपने आप डिलीट हो रहे हैं तो यह समझ लें की उसमें वायरस अटैक हो चुका है।

अनिल जांगिड़ Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned