सपा को इस कुर्सी से उतारने में जुटे भाजपाई

सपा को इस कुर्सी से उतारने में जुटे भाजपाई
zila panchayat chunav moradabad

मोरादाबाद जिला पंचायत  के चुनाव में  गर्मायी सियासत

जय प्रकाश, मुरादाबाद: सूबे में सत्ता बदलने के साथ ही भाजपा की नजर ऊंची कुर्सियों पर है जिसमें अब रामपुर के बाद मुरादाबाद जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर भी खतरे के बादल मंडराने लगे हैं. 20 सदस्यों के भूमिगत होने की चर्चा ने भी जोर पकड़ लिया है. जबकि जिला पंचायत अध्यक्ष शलिता सिंह ने कुर्सी सुरक्षित होने की बात कही है. यहाँ बता दें कि जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. जनवरी 2016 में हुए चुनाव में सपा की शलिता सिंह विजयी हुई थीं. उन्हें 18 एवं बसपा के अरुण कुमार को 16 मत मिले थे. सूबे में भाजपा की हुकूमत बनने के बाद अब भाजपाइयों की नजर इस कुर्सी पर है जिसके लिए उन्होंने पूरी ताकत झोंक दी है.

सपा भी चल रही दांव

उधर सपाइयों ने भी कुर्सी बचाए रखने को जोर-आजमाइश शुरू कर दी है. मतदाताओं को एकजुट करने के लिए प्रलोभन देने का सिलसिला शुरू हो गया है. अविश्वास प्रस्ताव के लिए 18 सदस्य जरूरी और जिला पंचायत में 34 सदस्य हैं. अविश्वास प्रस्ताव के जरिये अध्यक्ष को हटाने के लिए 18 सदस्यों की दरकार है. जिसके लिए दोनों पक्षों ने पूरी ताकत झोंक दी है. सपाइयों ने 20 सदस्यों का समर्थन होने का दावा किया है. विरोधी गुट भी अपने दावे को मजबूत बता रहा है.
इससे पहले मंडल में भाजपा जिला पंचायत की कुर्सी कब्जाने की कवायद में रामपुर में अविश्वास प्रस्ताव ला चुकी है और अमरोहा में जोर आजमाइश चल रही है. वहीं भाजपा नेता भूपेन्द्र सिंह खुलकर अपनी पत्नी के लिए जोर लगा रहे हैं. सूत्रों की माने तो दोनों जगह इस सप्ताह या अगले सप्ताह इस कुर्सी पर उठापटक तेज हो जायेगी.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned