श्मसान में रात के समय जलती चिता में हुआ कुछ ऐसा की मच गई भगदड़

श्मसान में रात के समय जलती चिता में हुआ कुछ ऐसा की मच गई भगदड़

Rahul Chauhan | Publish: Sep, 06 2018 02:54:11 PM (IST) Moradabad, Uttar Pradesh, India

संदिग्ध परिस्थितियों में हुई युवती की मौत को लेकर मृतिका के चाचा ने अपने भाई और भतीजे पर भतीजी की हत्त्या की आशंका जताते हुए एसपी रामपुर को प्रार्थना पत्र दे दिया।

रामपुर। संदिग्ध परिस्थितियों में हुई युवती की मौत को लेकर मृतिका के चाचा ने अपने भाई और भतीजे पर भतीजी की हत्त्या की आशंका जताते हुए एसपी रामपुर को प्रार्थना पत्र दे दिया। जिसके बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया और शिकायत के आधार पर पुलिस ने जलती हुई चिता को पानी डालकर बुझा दिया। वहीं मृतिका कि छोटी बहन ने इसे अपने चाचा की घटिया और गंदी करतूत बताया है।

यह भी पढ़ें : सवर्ण और ओबीसी वर्ग उतरा सड़कों पर तो पुलिस को उठाना पड़ा यह कदम

यह पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक 2 दिन पहले कोतवाली टांडा के गांव सोनकपुर में रहने वाली युवती की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मृतिका के चाचा का आरोप है कि परिवार वालों ने रिश्तेदारों को बताए बिना ही चारपाई पर शव को रखकर श्मशान ले गए और जल्दबाजी में अंतिम संस्कार कर दिया। जिसके बाद मैंने इसकी जानकारी डायल 100 को दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जलती हुई चिता को पानी से बुझा दिया। मैंने लिखित रूप में कार्रवाई और जांच के लिए पत्र दिया है। वहीं मृतिका के चाचा ने आरोप लगाते हुए कहा कि अफसरों ने परिजनों के लोगों से सेटिंग बाजी करके उसे फिर से जला दिया। मुझे आशंका है कि उसे पहले पीटा गया और फिर जहर दिया गया है। मुझे यह भी आशंका है कि वह किसी से अपनी मर्जी से शादी करना चाहती थी। मेरे भाई और भतीजे ने इसके चलते ही उसकी हत्या की होगी।

यह भी पढ़ें : इस डाॅक्टर के क्लिनिक पर लड़कियों से हर रोज होता था पांच से सात बार रेप

वहीं इस पूरे मामले पर सीओ राहुल टांडा का कहना है कि डायल 100 की सूचना पर जाकर पुलिस ने जब जांच पड़ताल कि तो मामला परिवार के आपसी रंजिश का आया है। जिसमें पंचनामा भरकर चिता को दोबारा जलवा दिया गया। मृतिका के पिता और आरोप लगाने वाले चाचा का पुराना विवाद है।

यह भी पढ़ें : कालसर्प दोष के लिए युवक जिंदा नाग ले आया घर, फिर एक घंटे की पूजा में यह हुआ!

मृतिका की छोटी बहन ने कहा है कि मेरी बहन कई दिनों से बीमार थी। बुखार और डायरिया की शिकायत को लेकर स्थानीय डॉक्टरों से उसका इलाज चल रहा था। बेहतर इलाज के लिए उसे लेकर जा रहे थे कि रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। हमारे चाचा पिताजी से रंजिश रखते हैं और उसी रंजिश को लेकर ऐसी घटिया हरकत कर रहे हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned