शराब की दुकानें खुलने की ख़ुशी में दोस्तों के साथ इतनी पी कि हो गयी मौत

Highlights
-सोमवार को शराब की दुकानें खुलने पर जमकर पी थी
-मजदूर की मौत से परिवार में मच गया है कोहराम
-मध्य प्रदेश का रहने वाला है मृतक

By: jai prakash

Published: 05 May 2020, 08:32 PM IST

मुरादाबाद: लॉक डाउन के दौरान लगभग डेढ़ माह बाद खुली शराब की दुकान से एक मजदूर की जान चली गई। जी हां दुकान खोलने की खुशी में एक मजदूर ने दोस्तों के साथ मिलकर इतनी शराब पी ली कि वह छत से नीचे गिर गया और उसकी जान चली गई। मजदूर की मौत से उसके परिवार में कोहराम मच गया।

14 दिन क्वारंटीन रहने के बाद घर लाैटी कांग्रेस लीडर इमरान मसूद की बेटी ताे भर आई मां की आखें
मध्य प्रदेश का रहने वाला है
मूल रूप से मध्य प्रदेश का रहने वाला छविराम मुरादाबाद में रहकर मजदूरी करता था। छविराम अपनी पत्नी शकुंतला और तीन बच्चों के साथ थाना मझोला क्षेत्र के ज्ञानपुर निवासी रणविजय सिंह के मकान में किराए पर रहता था। लॉक डाउन के चलते छविराम मजदूरी पर नहीं जा रहा था और अपने घर में ही रह रहा था। लगभग डेढ़ माह के बाद सोमवार को महानगर के कुछ इलाकों में शराब की दुकाने खोली गई थी। शराब की दुकान खुली तो छविराम अपने दोस्तों के साथ शराब लेकर आया। जिसके बाद छविराम ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर देर रात तक छत पर ही बैठकर शराब पी। मकान मालिक रणविजय ने बताया कि छविराम ने ज्यादा ही शराब पी ली थी।

लॉकडाउन 3.0 में दुुकानों को लेकर जारी हुई नई गाइडलाइन, बदल गया पुराना नियम

देर रात हुआ घायल
सोमवार की रात लगभग 12 बजकर 30 मिनट बजे छविराम अचानक शराब के नशे में धुत होकर मकान की छत से नीचे गिर गया और गंभीर रूप से घायल हो गया। आनन-फानन में मकान मालिक रणविजय और दोस्त घायल छविराम को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे देखते ही मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर मझोला पुलिस भी आ गई। जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मंगलवार को पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों के हवाले कर दिया। छविराम की मौत से उसकी पत्नी शकुंतला और 3 बच्चों का रो रो कर बुरा हाल है।

Show More
jai prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned