बड़ी खबर: पांच राज्यों में भाजपा के हाथ से जा रहे ये राज्य, इस ज्योतिष ने की भविष्यवाणी

बड़ी खबर: पांच राज्यों में भाजपा के हाथ से जा रहे ये राज्य, इस ज्योतिष ने की भविष्यवाणी

Jai Prakash | Publish: Dec, 09 2018 06:34:10 AM (IST) | Updated: Dec, 09 2018 04:37:31 PM (IST) Moradabad, Moradabad, Uttar Pradesh, India

ज्यादातर राज्यों में या भाजपा हार रही है या उसे कांग्रेस से कांटे की टक्कर मिल रही है

मुरादाबाद: 11 दिसम्बर को पांच राज्यों के विधानसभा के नतीजे आ रहे हैं, वहीँ उससे पहले जारी तमाम एग्जिट पोल और सर्वे ने सत्तारूढ़ भाजपा की नींदें खराब कर दी हैं। ज्यादातर राज्यों में या भाजपा हार रही है या उसे कांग्रेस से कांटे की टक्कर मिल रही है। वहीँ इस बार ज्योतिष का गणित भी भाजपा के साथ नहीं है। महानगर के वरिष्ठ ज्योतिष पंकज वशिष्ठ के मुताबिक इस बार राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार नहीं बन रही जबकि मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की कुंडली थोड़ी सही है,लेकिन वहां भी कांटे का मुकाबला है,जबकि तेलंगाना और मिजोरम में बिना क्षेत्रीय दलों के किसी की सरकार नहीं बन रही है।

खुलासाः बुलंदशहर की घटना काे लेकर एडीजी इंटेलीजेंस ने दी रिपाेर्ट, इसलिए हुई थी हिंसा

यहां जाएगी भाजपा

लोकसभा चुनावों से पहले इन पांच राज्यों को सेमी फाइनल माना जा रहा है,जिसमें पीएम मोदी की साख और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दम का आंकलन होना है। लेकिन चुनाव के बाद अब स्थिति उतनी सहज भाजपा के लिए मालूम नहीं पड़ रही जितनी की पिछले चुनावों में दिखती थी। ज्योतिष पंकज वशिष्ठ के मुताबिक राजस्थान में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया की कुंडली के मुताबिक उनके सितारे अच्छे नहीं चल रहे जबकि अशोक गहलोत काफी मजबूत दिखाई पड़ रहे हैं।लिहाजा वहां कांग्रेस की सरकार बनना तय है। इसी तरह छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस की सरकार बनती दिख रही है। जो नेताओं और पार्टी के अन्य नेताओं की कुंडली का आंकलन किया गया।

यूपी बोर्ड परीक्षाआें के कार्यक्रम में हुआ ये बदलाव, छात्रों को इससे मिली बड़ी राहत

यहां कांटे की टक्कर

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के ग्रह थोड़े ठीक हैं,लेकिन इतने मजबूत भी नहीं कि आसानी से सत्ता मिल जाए। इसलिए यहां कांटे की टक्कर है।

मुख्यमंत्री ने अब गोकशी रोकने के लिए इन अफसरों को दी जिम्मेदारी, इनके क्षेत्र में हुर्इ एेसी घटना तो खैर नहीं

 

क्षेत्रीय दल मजबूत

वहीँ मिजोरम और तेलंगाना में क्षेत्रीय दल काफी मजबूत उभर रहे हैं। कांग्रेस को यहां थोडा फायदा मिल रहा है। भाजपा को नहीं। लिहाजा पांच राज्यों की स्थिति इस बार भाजपा के अनुकूल नहीं है। पंकज वशिष्ठ के मुताबिक ये सभी आंकड़े ग्रहों के हिसाब से हैं अंतिम परिणाम नहीं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned