यूपी से लापता हुईं चार बच्चियां बिहार के इस शहर में मिलीं, बच्चियों का जबाब सुन पुलिस भी हैरान

सूचना मिली कि बच्चियों को गांव के रेलवे स्टेशन के पास देखा गया था।

By: jai prakash

Updated: 15 Nov 2018, 04:08 PM IST

मुरादाबाद : जनपद के भगतपुर थाना क्षेत्र में मंगलवार शाम अचानक चार बच्चियां लापता हो गयीं थीं। जिसमें परिजनों के साथ पुलिस प्रशासन में भी हडकंप मच गया था। रात से ही पुलिस ने गांव में डेरा डाल दिया था और आसपास के इलाके में बच्चियों को तलाश करवाया। लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा। वहीँ कहीं से सूचना मिली कि बच्चियों को गांव के रेलवे स्टेशन के पास देखा गया था। जिस पर पुलिस ने चारों बच्चियों के फोटो जीआरपी को भेजे और ढूंढने को कहा। जिसमें पता चला कि बच्चियां जनसेवा एक्सप्रेस में सवार हैं जो बिहार जा रही हैं। स्थानीय जीआरपी की सूचना पर बेगुसराय की जीआरपी टीम ने बच्चियों को उतार लिया और अपने कब्जे में ले लिया। इसकी सूचना बच्चियों के परिजनों को भी दे दी गयी।

अब मुठभेड़ से थर्राया सपा नेता आजम खान का शहर, पुलिस ने बदमाश को किया बेहाल

एक लड़की लौट आई थी

बिसौली उदावला गांव के रहने वाले इकरार अहमद खेतीबाड़ी के कार्य में जुटे हैं। उनकी 14 वर्षीय बेटी व सातवीं की छात्रा तहज्जुब मंगलवार की दोपहर के वक्त पिता के लिए खाना लेकर घर से रवाना हुई। ग्रामीणों के मुताबिक तहज्जुब के साथ गांव की तीन अन्य लड़कियां भी थीं। इसमें छह वर्षीय महरीन पुत्री इस्तयाक व सगी बहनें आठ वर्षीय सहनवी व उसकी छोटी बहन सात वर्षीय जिकरा पुत्री नबी हसन, छह वर्षीय महजबी भी उनके साथ थीं। कुछ देर बाद महजबी घर लौट आई, लेकिन अन्य चारों लड़कियां देर शाम तक नहीं आईं। इकरार ने जब सुना कि तहज्जुब व गांव की तीन अन्य लड़कियां अब तक नहीं लौटी हैं तो वे दंग रह गए। इकरार ने लड़कियों के खेत जाने से अनभिज्ञता जताई। घटना की जानकारी तत्काल पुलिस को दी गई।

बसपा के इस कद्दावर नेता ने कहा- इस तरह बनेंगी मायावती अगली प्रधानमंत्री, गठबंधन पर कही ये बड़ी बात

ऐसे मिला सुराग

एसपी देहात उदय शंकर सिंह ने बताया कि छानबीन में पता चला कि जालपुर रेलवे हाल्ट पर दोपहर करीब दो बजे चारों लड़कियां देखी गईं हैं। बुधवार को परिजनों ने ही भगतपुर पुलिस को बताया कि जनसेवा एक्सप्रेस में सवार एक व्यक्ति का फोन आया था। उसने बताया कि लड़कियां उसके साथ ट्रेन में हैं और बिहार के बेगूसराय जिले की ओर जा रही हैं। सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस सक्रिय हो गई। बेगूसराय पुलिस से संपर्क साधा गया। बेगूसराय जीआरपी ने तब्बसुम के अलावा छह साल की महरीन पुत्री इश्तयाक, नबी हसन की आठ साल की बेटी सहनबी, उसकी छोटी बहन सात साल की जिकरा को बछवारा रेलवे स्टेशन पर उतार लिया। लड़कियों को लेने के लिए अब भगतपुर थाने की टीम बेगूसराय के लिए रवाना हो गई है।

रिटायर्ड कैप्टन और बिल्डर आए आमने-सामने तो जमकर चले लात घूसे, दिखा ऐसा नजारा

 

इसलिए घर छोड़ा

पुलिस के मुताबिक चारों लड़कियां सकुशल आज शमा तक परिवार के हवाले कर दी जाएंगी। वहीँ जानकारी में आया है कि तब्बसुम की अपने माता-पिटा से किसी बात को लेकर अनबन हो गयी थी। जिससे नाराज होकर उसने घर छोड़ने का फैसला लिया और अपने साथ अपनी तीन अन्य बहनों को भी ले गयी। वो तो पुलिस की सक्रियता अधिक दिखी इस मामले में अगर किसी गलत सिंडिकेट के हाथ लग जातीं तो शायद परिजनों को सिवाय पछतावे के कुछ हाथ नहीं आता।

Show More
jai prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned