ये शहर सबसे प्रदूषित शहरों में शामिल,सांस लेना भी हुआ मुश्किल

ये शहर सबसे प्रदूषित शहरों में शामिल,सांस लेना भी हुआ मुश्किल

jai prakash | Publish: Jun, 14 2018 02:47:16 PM (IST) Moradabad, Uttar Pradesh, India

मुरादाबाद में लोग आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत की शिकायत कर रहे हैं।

मुरादाबाद: बुधवार सुबह से बिगड़ा मौसम अभी भी सुधर नहीं पाया है। आज सुबह से ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलो में धुंध छाया हुआ है। उमस और गर्मी से लोगो का जीना मुश्किल हो गया है। धूल के कणों से आसमान धुंधला हो गया सूरज की रौशनी भी साफ़ नजार नहीं आ रही है। जिसकी वजह से विजिब्लिटी काफ़ी कम हो गयी। जिस से लोगो को चलने में परेशानी आ रही है। मुरादाबाद में लोग आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत की शिकायत कर रहे हैं।यही नहीं बिगड़ी हवा और धुंध के कारण मुरादाबाद देश का सबसे प्रदूषित शहर भी पिछले 24 घंटों में हो गया।

कमाई का जरिया बना देश का हाईटेक ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे, जाने कैसे चोर लगा रहे सरकार को चूना

पारा और उमस से लोग परेशान

यहां लोगो को लगता है की प्रदूषण के कारण आसमान में धुन्ध छाया हुआ है।धुंध के साथ साथ तापमान भी काफी बढ़ा हुआ है। जिसकी वजह से उमस बढ़ी हुई है। मुरादाबाद में आज अधिकतम तापमान 41 डिग्री और ह्यूमिडिटी 40 प्रतिशत। मुरादाबाद में प्रदूषण का लेवल सबसे खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है।

ट्रेन में सफर करने वालों के लिए बड़ी खबर, रेलवे ने टिकट बुकिंग के लिए शुरु किया नया मोबाइल एप

वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर

आज यहां एयर क्युवालिटी इडेक्स 452 अंक पर है, जो एक स्वस्थ आदमी पर भी खतरनाक प्रभाव डाल सकता है। बीमार लोगो के लिए तो ये जान लेवा साबित हो रहा है। इसीलिए यहां लोग आंखों में जलन और सांस लेने में परेशानी की शिकायत कर रहे हैं। बुधवार को दिल्ल्ली में 445, गुरुग्राम में 488,बुलंदशहर व ग्रेटर नॉएडा में 500,जोधपुर में 420,नॉएडा में 340 व मुरादाबाद 431 एक्युआई रिकॉर्ड किया गया।

राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में खूब हुर्इ मिशन 2019 पर बातें, भाजपा के खिलाफ एक मंच पर आए दल अब करेंगे ये काम

 

आसपास के जिलों का भी बुरा हाल

मुरादाबाद संभल अमरोहा रामपुर समेत इलाकों से सटे इन सभी जिलो में आज भी धुंध छाया हुआ है। मौसम के जानकारों के मुताबिक ये सब हवा में नमी और उसमें जमें धुल कणों के कारण है। तेज आंधी या बारिश नहीं हो रही है। जिससे धुंध का प्रकोप बढ़ गया है।

अगर रात में करते हैं ऑटो से सवारी, तो हो जाएं सावधान, इस तरह देते हैं ड्राइवर वारदात को अंजाम

जानकर बोले ये

शहर के हिन्दू कॉलेज में वनस्पति विज्ञान की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ अनामिका त्रिपाठी के मुताबिक हवा में अत्यधिक जहरीले पदार्थों के कारण भी ये धुंध खतरनाक हो रही है। जिससे लोगों को सांस लेने में दिक्कत जैसी शिकायत आ रही है। उनके मुताबिक जब तक बारिश नहीं होगी मौसम में सुधार की गुंजाइश कम है।

11000 करोड़ की लागत से बने देश के हार्इटेक एक्सप्रेस वे पर आज रात से चलने के देने होंगे रुपये

पहले भी हो चुकी है स्थिति खराब

यहां बता दें की बीती दिवाली के समय भी शहर का हाल कुछ इस तरह से हो गया था। तब शहर सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में नम्बर वन था। जबकि बुधवार को हवा के बिगड़े मिजाज ने इसे फिर वहीँ लाकर खड़ा कर दिया है।

 

Ad Block is Banned