कोरोना का खौफ: नवरात्र में भक्तों से भरे रहने वाले प्राचीन मंदिरों में पसरा सन्नाटा

Highlights
-चैत्र नवरात्र आज से शुरू हो गया है
-प्राचीन काली मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए नहीं पहुंचा कोई
-पुलिस-प्रशासन लगातार लोगों को कर रहा आगाह
-13 आशंकित मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने से प्रशासन ने ली है राहत की सांस

मुरादाबाद: कोरोना वायरस के चलते पूरे देश को लॉकडाउन किया गया है। जिसका व्यापक असर आज शहर के हर इलाके में देखने को मिल रहा है। यही नहीं हर साल नवरात्रों पर जहां सुबह से ही हजारों की भीड़ इकट्ठा हो जाती थी, वहां अब सन्नाटा पसरा हुआ है। शहर के प्राचीन सिद्ध मंदिर काली मंदिर में आज सुबह से सन्नाटा पसरा हुआ है। यही नहीं नवरात्र पर लगने वाला मेला इस बार लगने से ही पहले उजड़ गया। जिससे स्थानीय लोग निराश भी दिखे, लेकिन दुनिया के इस बड़े संकट के समय सरकार का साथ देने का आह्वान भी सभी ने किया।

Lockdown: जानिए, आपके जिले में कितने बजे खुलेंगी दुकानें और कब होंगी बंद

नहीं आया कोई दर्शन करने
काली मंदिर न सिर्फ शहर के लोगों बल्कि आसपास के लोगों के लिए आस्था का बड़ा केंद्र है। यहां सुबह चार बजे से दोपहर बारह बजे तक हजारों की संख्या में लोग मां की पूजा अर्चना करते हैं। लेकिन कोरोना लॉक डाउन में यहां पूरी तरह सन्नाटा पसरा हुआ है। किसी को भी मंदिर या कहीं भी जाने की इजाजत नहीं है तो स्थानीय महंत व पुजारी ने भी सभी लोगों से घरों में ही पूजा अर्चना की अपील की है। किसी को भी मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं है।

Navratri 2020: कोरोना के कारण मंदिरों में प्रवेश पर रोक, घर पर ही भक्तों ने की मां की पूजा

व्यापक असर देखने को मिल रहा है
यहां बता दें कि जनपद में सभी जगह लॉकडाउन का असर देखने को मिल रहा है। शहर की सभी सीमाएं सील हैं। कहीं से भी अभी तक कोई अप्रिय घटना की भी सूचना नहीं है। पुलिस टीमें गश्त कर लगातार लोगों से बिना वजह खड़े नहीं होने की अपील कर रहे हैं। बीते 24 घंटे में लॉक डाउन तोड़ने में पुलिस ने 177 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है।

Show More
jai prakash Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned