अब एनआईए को इस मुफ़्ती की है तलाश, मुरादाबाद में सर्च जारी

अमरोहा में एनआईए की रेड के बाद मंडल में लगातार नए आतंकी कनेक्शन मिल रहे हैं।

By: jai prakash

Published: 19 Jan 2019, 09:11 PM IST

मुरादाबाद: बीती 26 दिसम्बर को अमरोहा में एनआईए की रेड के बाद मंडल में लगातार नए आतंकी कनेक्शन मिल रहे हैं। जिसमें अब नई कड़ी मुरादाबाद का गुफरान भी जुड़ गया था। गुफरान मदरसे में युवाओं को तालीम दे रहा था। एजेंसियों को शक है कि देश में कोई बड़ी घटना करना चाहता था ये संगठन। शायद इसीलिए इतना बड़ा नेटवर्क तैयार किया गया। फ़िलहाल गुफरान की तलाश में एनआईए एटीएस के साथ मंडल भर की खुफिया इकाई भी लग गयी है। जबकि एजेंसियों के रडार पर आधा दर्जन अमरोहा के भी युवक हैं,जिन्हें कभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है।

गठबंधन को लेकर रालोद सुप्रीमो ने दिया बड़ा बयान, कहा- सवाल सीटों का नहीं, बल्कि टूटे भार्इचारे का है

अब ये आया रडार पर
आइएसआइएस के नए मॉड्यूल हरकत उल हर्ब-ए-इस्लाम के चीफ रिंग मास्टर सोहेल की गिरफ्तारी के बाद खुफिया एजेंसियों की कार्यप्रणाली से पर्दा उठ गया है। अमरोहा हीं नहीं सोहेल का नेटवर्क मुरादाबाद की कई कॉलोनियों में था। सोहेल के बाद एनआइए की कस्टडी में गुफरान है। उसने शहर के शाही मदरसा से पढ़ाई पूरी की है। गुरुवार को एनआइए की टीम ने मदरसा पहुंचकर जानकारी हासिल की थी। इसी क्रम में शुक्रवार को खुफिया एजेंसियों की टीमों ने कटघर के एकता विहार और मुगलपुरा इलाकों में पहुंचकर गुफरान के संदर्भ में जानकारी हासिल की। खुफिया एजेंसियों के सूत्रों ने बताया कि गुफरान के साथ दीनी तालीम हासिल करने के बाद दो युवक कटघर के एकता विहार में लंबे समय से नाम बदलकर रह रहे थे। इसकी जानकारी होने के बाद ही एकता विहार पहुंचकर उनके बारे में जानकारी हासिल करने का प्रयास किया। इस दौरान दोनों युवक गायब मिले।

सोशल मीडिया पर आरएलडी सुप्रीमो अजित सिंह की बहू से संबंधित पोस्ट वायरल, मचा बवाल


नहीं मिल पा रहा सुराग
क्षेत्रवासियों ने दोनों की मौजूदगी का दावा तो किया, लेकिन वह कहा गए, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दे सके। इसी प्रकार जाच एजेंसियों ने मुगलपुरा में भी गुफरान के बारे में जानकारी हासिल कर रही है। माना जा रहा है कि गुफरान मुरादाबाद में आतंकी नेटवर्क खड़ा कर रहा था। दीनी तालिम के साथ-साथ उसने युवाओं में अपनी पकड़ बना ली थी। किस-किस के संपर्क में गुफरान आया था। एनआइए के पास उनके नाम भी आ चुके है। सवाल यह है कि उक्त सभी अपना नाम बदलकर कॉलोनियों में रह रहे थे। साइलेंट तरीके से चल रहा मिशन एनआइए और एटीएस संयुक्त रूप से साइलेंट तरीके से मिशन चला रही है।

नए साल में सोने के भाव में हो गर्इ इतनी बढ़ोतरी, जल्द कर लें खरीदारी, पहुंच सकती इतनी कीमत

अलर्ट जारी
फ़िलहाल 26 जनवरी को सुरक्षा को मद्दनेजर रखते हुए आतंकी गतिविधियों पर फोकस किया जा रहा है। मंडल के सभी सार्वजनिक स्थानों पर सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दिए है। साथ ही एनआइए और एटीएस अपनी कार्रवाई को स्थानीय पुलिस से अलग रखकर काम कर रही हैं। गुफरान के बारे में जानकारी हासिल कर रही है। माना जा रहा है कि गुफरान मुरादाबाद में आतंकी नेटवर्क खड़ा कर रहा था। दीनी तालिम के साथ-साथ उसने युवाओं में अपनी पकड़ बना ली थी। किस-किस के संपर्क में गुफरान आया था। एनआइए के पास उनके नाम भी आ चुके है। सवाल यह है कि उक्त सभी अपना नाम बदलकर कॉलोनियों में रह रहे थे। साइलेंट तरीके से चल रहा मिशन एनआइए और एटीएस संयुक्त रूप से साइलेंट तरीके से मिशन चला रही है।

Show More
jai prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned