निकाय चुनाव: GST ने देश से साढ़े चार करोड़ नौकरियों को कर दिया गायब-राजबब्बर,- देखें वीडियो

राजब्बर ने एक ही दिन में केमरी, बिलासपुर और शहर में कई जनसभाएं कर रामपुर की आवाम से कांग्रेस प्रत्याशियों को जिताने की अपील की।

By:

Published: 24 Nov 2017, 06:27 PM IST

रामपुर। देश और उत्तर प्रदेश में सब कुछ गंवा चुकी कांग्रेस पार्टी रामपुर की पांचो नगर पालिकाओं पर दाव खेलना चाह रही है। इसी के मद्देनजर उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने नगर निकाय चुनाव की जिम्मेदारी फ़िल्म अभिनेता व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजब्बर को दी है, जो रामपुर में धुंआधार जनसभाएं कर रहे हैं।

राजब्बर ने एक ही दिन में केमरी, बिलासपुर और शहर में कई जनसभाएं कर रामपुर की आवाम से कांग्रेस प्रत्याशियों को जिताने की अपील की। इस दौरान राजब्बर ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए जीएसटी व नोटबन्दी का जिक्र करते हुए अपील की कि यह सरकार आपकी हितैसी नहीं है।

देखें वीडियो
https://youtu.be/4rsFdWDi8z8

राजबब्बर रामपुर में कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने के लिए केंद्र पर जमकर भड़के तो वहीं सपा नेता आज़म खान को लेकर उन्होंने अपनी जुबान ही नहीं खोली। ऐसा लगता है कि राजबब्बर खान साहब से डर गए और शायद यही वजह रही कि कई जनसभाओं में उन्होंने आज़म खान का कोई जिक्र नहीं किया और न ही उनको लेकर कोई बयान दिया।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि याद करो हिमाचल प्रदेश और गुजरात का चुनाव पिछले 20 सालों से लगातार एक ही तारीख पर होता रहा है इस बार क्यों नहीं हुआ। इसको समझने की ज़रूरत है। राजबब्बर ने कहा कि फौरन दिमाग में आता है कि योजनाओं का जो पैसा सरकार गुजरात में खर्च करना चाहती थी वह नहीं किया। राजबब्बर ने कहा कि अरे भाई गुजरात में मुख्यमंत्री उनका था। सरकार भाजपा की थी। केंद्र में सरकार भाजपा की थी। प्रधानमंत्री उनका था कोई आखिरी वक़्त पे तो पता नहीं चला था कि चुनाव होने वाला है।

जितना पैसा था वो तो पहले ही दिया जा चुका था। जितनी योजनाओं के फीते काटने थे वे पहले ही काट चुके तो आखिर कौन सी बात थी जो गुजरात का चुनाव हिमाचल के साथ नहीं कराया। अगर हिमाचल के साथ गुजरात का चुनाव होता तो चुनाव हो गया होता। लेकिन निकाय चुनाव अभी थे इसका रिज़ल्ट पहली तारीख को आएगा। उनका रिज़ल्ट 5 तारीख को आ गया होता। लेकिन ऐसा नहीं किया। इसलिए नहीं किया कि पिछले निकाय चुनाव में कांग्रेस पार्टी की उत्तर प्रदेश में हैसियत अच्छी नहीं थी।

लेकिन इस बार नोटबंदी व जीएसटी की वजह से जो माहौल बना है पूरे देश के अंदर उसका असर उत्तर प्रदेश के अंदर भी हुआ है। अभी भी उनको भरोसा नहीं था। अब 9 तारीख को गुजरात में वोट पड़ेंगे और यहां रिजल्ट आएंगे 1 तारीख को। वहां पर कांग्रेस पार्टी के सामने बीजेपी है। लेकिन अगर कांग्रेस पार्टी का मेयर व चेयरमैन उत्तर प्रदेश में बनता है तो साउथ गुजरात व नॉर्थ गुजरात में जो हिन्दू भाई और मुसलमान भाई रहता है वह अपनी मूंछों पर ताव देकर ये कहेगा कि हां उत्तर प्रदेश के अंदर भी कांग्रेस आगे बड़ी है और उसका सीना चौड़ा हो जाएगा। वहां पर उसका जोश दोगुना हो जाएगा।

जीएसटी पर बोले राजब्बर
राजबब्बर ने जनता से कहा कि आप लोग इस बार चुनाव में किसी जाति को नहीं हरा रहे हो। हाथ के पंजे पर बटन दबा कर मुहर लगाकर जब आप जिता रहे हो तो जीएसटी के खिलाफ वोट दे रहे हो। नोटबन्दी के खिलाफ वोट दे रहे हो। जो लोग इस मुल्क में इंसानियत खत्म करना चाहते हैं उनके खिलाफ आईना दिखाने का काम कर रहे हो। जीएसटी ने इस मुल्क से साढ़े चार करोड़ नौकरियों को गायब कर दिया है। राजबब्बर ने कहा कि एक नौजवान राहुल गांधी ने गुजरात के अंदर 40 से ऊपर मंत्री, कैबिनेट मंत्री और प्रधानमंत्री को गली-गली की खाक छानने को मजबूर कर दिया है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned