राहुल गांधी ने इस पूर्व सांसद को तेलंगाना का प्रभारी बनाया, तो यूपी के इस शहर में विरोधी खेमे में मच गया हडकंप

राहुल गांधी ने इस पूर्व सांसद को तेलंगाना का प्रभारी बनाया, तो यूपी के इस शहर में विरोधी खेमे में मच गया हडकंप

Jai Prakash | Publish: Dec, 02 2018 07:32:41 PM (IST) | Updated: Dec, 02 2018 07:32:42 PM (IST) Moradabad, Moradabad, Uttar Pradesh, India

देश में सबसे ज्यादा लोकसभा वाली सीटों वाले उत्तर प्रदेश को लेकर हर दल गंभीर है।

मुरादाबाद: लोकसभा चुनावों से पहले सभी दलों की नजर पांच राज्यों में होने जा रहे विधान सभा चुनावों पर हैं। जिसमें सभी प्रमुख दलों ने पूरी ताकत लगा दी है। इसे लोकसभा का सेमी फाइनल जो माना जा रहा है। वहीँ इसके साथ ही देश में सबसे ज्यादा लोकसभा वाली सीटों वाले उत्तर प्रदेश को लेकर हर दल गंभीर है। इसके इर्द गिर्द ही नेताओं और कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारियां भी सौंपी जा रहीं हैं। कुछ इसी तर्ज पर मुरादाबाद में कांग्रेस पार्टी के अंदर अजब से हलचल पैदा हो गयी है,क्यूंकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व मुरादाबाद से पूर्व सांसद अज़हरुद्दीन को तेलंगाना का प्रभारी बनाकर बड़ा राजनीतिक सन्देश दिया है।

Videoः अधिकांश महिलाएं शर्म के कारण नहीं बताती ये बात, जानिए क्या कहते हैं सैक्साेलॉजिस्ट

यहां से रहे थे सांसद

पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन मुरादाबाद से 2009 में कांग्रेस से सांसद रहे थे। जबकि 2014 में उन्होंने राजस्थान से चुनाव लड़ा था जहां से वे हार गए थे। चूंकि अभी महागठबंधन जैसी कोई स्थिति नहीं बन पा रही। लिहाजा पिछले दिनों भी अज़हर का नाम उछला था। लेकिन पार्टी नेतृत्व स्तर से कोई हामी नहीं भरी गयी थी। खुद राज बब्बर और गुलाम नबी आज़ाद के सामने कई कार्यकर्ताओं ने बाहरी उम्मीदवार को टिकट न देने की वकालत की थी।

वीडियो में देखिये कैसे देखते ही देखते राख हो गयी कपडा फैक्ट्री

तेलंगाना का प्रभारी बनाया

वहीँ अचानक राहुल गांधी द्वारा अज़हर को तेलंगाना का प्रभारी बनाने से स्थानीय अज़हरुद्दीन के समर्थकों में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी है। कांग्रेस जिला अध्यक्ष डॉ ए पी सिंह के मुताबिक ये मुरादाबाद के कार्यकर्ताओं के लिए हर्ष का विषय है। अभी अज़हरुद्दीन दोबारा यहां से चुनाव लड़ेंगे या नहीं ये नेतृत्व को तय करना है।

बड़ी खबरः भाजपा जिलाध्यक्ष ने देरी से पहुंचने पर कार्यकर्ताआें को दी एेसी सजा, जानकर पार्टी से आपका भी मोह हो जाएगा भंग

इन्हें हराया था

अज़हरुद्दीन ने 2009 के लोकसभा चुनाव में भाजपा उम्मदीवार सर्वेश सिंह को रिकॉर्ड मतों से हराया था। इस सीट पर मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका में रहते हैं तो मुस्लिम मतों के साथ ही अज़हर की छवि के चलते उन्हें दूसरे समुदाय का भी वोट हासिल हो जाता है। इसलिए कांग्रेस 2009 वाला दांव फिर खेल सकती है। अब सबका इन्तजार पांचों राज्यों के परिणाम ही हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned