Raksha Bandhan 2019: इस बार नहीं है भद्रा, पूरा दिन बांधे बहनें भाइयों को राखी

Raksha Bandhan 2019: इस बार नहीं है भद्रा, पूरा दिन बांधे बहनें भाइयों को राखी

Jai Prakash | Updated: 14 Aug 2019, 11:59:18 AM (IST) Moradabad, Moradabad, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

-सन 2000 के बाद बन रहा सुखद संयोग
-पूरे दिन नहीं है भद्रा, इसलिए किसी भी टाइम बांध सकती हैं राखी
-सुबह 5:53 से शाम 6 बजे तक है मुहूर्त

मुरादाबाद: भाई-बहन के प्यार का पर्व रक्षा बंधन इस बार गुरूवार को है। ज्योतिषियों के अनुसार 19 सालों बाद बेहद सुखद संयोग बन रहा है, जिसमें कुछ समय श्रावण नक्षत्र,बाद में घनिष्ठा और सौभाग्य संयोग बन रहा है। महानगर के वरिष्ठ ज्योतिषी पंकज वशिष्ठ के मुताबिक इससे पहला ऐसा संयोग 2000 में बना था। इस दिन सुबह सूर्योदय के साथ ही शाम सूर्यास्त तक बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांध सकती हैं।

Raksha Bandhan Special: महिला ने गोबर से तैयारी की ऐसी राखी, विदेशों में भी हो रही चर्चा, देखें वीडियो

ये है समय

पंकज वशिष्ठ के मुताबिक सावन की पूर्णिमा 14 अगस्त की शाम 3:45 से 15 अगस्त की शाम 5:58 तक रहेगी। चूंकि भद्रा काल में राखी नहीं बांधी जाती। इसलिए इस बार भद्रा का कोई विकल्प नहीं है। लिहाजा सुबह से शाम तक राखी बांधी जा सकती है। फिर इस बार ये पर्व गुरूवार को पड़ रहा है तो और शुभ है। क्यूंकि ब्रहस्पति सभी देवों के गुरु हैं।

14 अगस्त आज का मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ व मीन राशि का राशिफल

शुभ मुहूर्त

प्रातः 5:53 से शाम 6: 01 बजे तक

दोपहर में 1 बजे से 4: 20 बजे तक

इस प्रकार इस बार रक्षा बंधन का सुबह समय पूरे दिन में 13 घंटे का है। इसके साथ ही राखी बांधते समय ॐ येन बुद्धि बलि राजा,दानवेन्द्रो महाबलाः,तेन त्वावं प्रतिबध्नामी रक्षे माँ चल माँ चल का उच्चारण करें।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned