छात्रा से छेड़खानी के बाद दो समुदायों में झड़प, फायरिंग, चार की मौत

ग्रामीणों ने शव हाईवे पर रखकर लगाया जाम, गांव में पीएसी व पुलिस तैनात, दरोगा व सिपाही सस्‍पेंड

बिजनौर। थाना कोतवाली क्षेत्र के नजीबाबाद रोड के पैदा गांव में स्कूल जा रही एक संप्रदाय की लड़की से छेड़छाड़ के मामले में दो पक्षोंं में जमकर गोलीबारी और पथराव हुआ। लड़की से छेड़छाड़ के विवाद में दो संप्रदाय के लोग आमने-सामने आ गए। 
इस दौरान दोनों पक्षो में जबरदस्त गोलीबारी हुई। लोगों ने पथराव भी किया। संघर्ष में चार लोगोंं की मौत हो गई है, जबकि 12 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैंं। उधर, गुस्साए ग्रामीणों ने एनएच-119 पर शव को रखकर जाम लगा दिया है। मौके पर पहुंंची पुलिस ने लोगोंं को समझाने का प्रयास किया। काफी देर की मशक्‍कत के बाद ग्रामीण माने। फिपलहाल पुलिस दोनों पक्षोंं के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कह रही है।

देखें वीडियो-


स्‍कूल जाते समय युवकों ने की छेड़छाड़
दरअसल, यह पूरा मामला है बिजनौर थाना कोतवाली क्षेत्र के नजीबाबाद रोड के पैदा गांंव का है, जहांं शुक्रवार सुबह स्‍कूल जाने के लिए छात्रा घर से निकली। जब छात्र स्‍कूल जा रही थी तो दूसरे पक्ष के युवकों ने लड़की से छेड़छाड़ शुरू कर दी। लड़की ने जब इसकी शिकायत अपने परिजनों से की तो दोनों पक्ष आमने सामने आ गए। युवकों के नाम दीपक, तेजपाल, कुंवर सैनी, राजू बिल्‍लू, टीकम बताए जा रहे हैं। पुलिस के मुताबिक, संघर्ष में असिनू, सरफराज, ऐशान और एक अज्ञात शख्‍स की मौत हुई है।

bijnore bawal

12 लोग हुए घायल
इसके बाद दोनों तरफ से फायरिंग और पथराव होने लगा। फायरिंग और पथराव में तीन लोगोंं की मौके पर मौत हो गई, जबकि एक की मौत अस्‍पताल में इलाज के दौरान हुई। वहीं, खूनी संघर्ष में 12 से ज्यादा लोग इसमें घायल हो गए हैंं। उधर, ग्रामीणों ने रोड पर शव को रखकर जाम लगा दिया है।

तनाव को देखते हुए फोर्स तैनात
उधर, मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी बिजनौर उमेश श्रीवास्तव ने बताया की इसमें चार लोगोंं की मौत हो गई है। साथ ही मौके पर भारी पुलिस बल और पीएसी को तैनात कर दिया गया है। साथ ही इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी। क्ष्रेत्र में तनाव को देखते हुए और फोर्स तैनात करने की बात भी अधिकारी कह रहे हैंं।

एडीजी व प्रमुख सचिव पहुंचे, दरोगा व सिपाही सस्‍पेंड
सांप्रदायिक संंघर्ष में मरने वालों की संख्‍या चार हो गई है। वहीं, जानकारी मिलते ही एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत सिंह चौधरी और प्रमुख सचिव गृह देवाशीष पांडा बिजनौर पहुंच गए। आईजी ने लापरवाही बरतने पर एक दारोगा और एक सिपाही सस्पेंड कर दिया है।
sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned