572 लोगों को और किया होम क्वारंटाइन, आंकड़ा 1200 के पार

- 203 लोग विशाखापट्टनम से टे्रंन से आए, उनको ग्वालियर में चेकअप के बाद सीधे बसों से उनके गांव भेजा, वहां होम क्वारंटाइन किया


मुरैना. शहर के बाहर से विभिन्न प्रांतों से आए लोगों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। अभी तक जिले भर में १२०९ लोगों को होम क्वारंटाइन किया जा चुका है। गुरुवार को ५७२ लोगों को होम क्वारंटाइन किया है। इनमें २०३ लोग विशाखापट्टनम से टे्रंन से ग्वाालियर आए और ५० दिल्ली से ट्रक से आए वह भी शामिल हैं। वहीं जिले से पहली बार दो संदिग्ध मरीजों के सेंपल लिए गए हैं, इनको जांच के लिए लैव भेजा गया है।
ऐसे लोग जो बाहरी प्रांतों से आए हैं या फिर उनको खांसी, जुकाम, सर्दी आदि होने पर संदिग्ध मानकर उनका चेकअप किया गया और उनको होम क्वारंटाइन किया गया है। संदिग्ध लोगों की संख्या दिनों दिन बढ़ते ही जा रही है। ऐसे लोग २४ मार्च को सिर्फ २४४ थे जो बढक़र २५ मार्च को ६३७ हो गए। गुरुवार की इनकी संख्या १२०९ हो चुकी है। २५१ लोग ग्वालियर टें्रन से विशाखापट्टनम से आए। ये सभी टें्रन में पेंट्रीकार के अलावा अन्य काम करते थे। इनमें से ४८ धौलपुर राजस्थान क्षेत्र के थे और २०३ मुरैना जिले के अंबाह, पोरसा, जौरा, कैलारस व मुरैना के रहने वाले हैं। इनके लिए डिप्टी कलेक्टर एल के पांडे व पटवारियों का दल ग्वालियर स्टेशन पर पहुंचा और वहां उनको चेकअप किया। इनके लिए मुरैना से आरटीओ व प्रशासन ने दस बस भेजी, उनके द्वारा इन सभी को उनके घर भेजा गया और वहां पर टीम ने उनको होम क्वारंटाइन किया गया है।
गुजरात से आए लोगों का भी कराया चेकअप
राजस्थान के कुछ लोग ऑटो से सूरत गुजरात से खेरागढ़ आगरा उप्र जा रहे थे। उनको बैरियर चौराहे पर टे्रफिक पुलिस ने रोका और जिला अस्पताल चेकअप के लिए भेजा। ऑटो से एक महिला व तीन पुरुष व एक बच्चा था। जो २३ मार्च को सूरत से चले थे।
युवती भर्ती, नर्स होम क्वारंटाइन में
जौरा तहसील के खिड़ौरा का पुरा में होम क्वारंटाइन के दौरान एक युवती का स्वास्थ्य बिगड़ा तो उसकी मां उसको बुधवार की रात ११ बजे इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंची। चंूकि उसको खांसी, सर्दी थी इसलिए यहां अमरजेंसी में ड्यूटी डॉक्टर ने मामले को गंभीरता से न लेकर सामान्य पर्चा बनाकर उसको मेडिकल वार्ड में भर्ती कराने को कह दिया। लडक़ी व उसकी मां सर्जीकल वार्ड में पहुंची तो वहां ड्यूटी नर्स ने उनको मेडिकल वार्ड भेज दिया। लेकिन कुछ देर बाद सर्जीकल वार्ड की नर्स को कुछ शक हुआ तो वह दौडक़र मेडिकल वार्ड में गई जब तक वहां ड्यूटी नर्स उसको बोतल, इंजेक्शन दे चुकी थी। यह खबर अस्पताल प्रबंधन तक पहुंची तो जिला अस्पताल में हडक़ंप मच गया और तुरंत युवती को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। युवती की मां व नर्स को होम क्वारटाइन किया गया है। युवती का सेंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। शुक्रवार को रिपोर्ट आ जाएगी।
ट्रक से १७५ मजदूर जा रहे थे महाराष्ट्र, पुलिस ने पकड़ा
पहाडग़ढ़ थाना पुलिस ने १७५ मजदूरों से भरा ट्रक क्रमांक आर जे ११ जीबी ४२१२ को गुुरुवार की रात करीब साढ़े सात बजे कपड़ा है। ये मजदूर महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। पहाडग़ढ़ से शिवपुरी होकर महाराष्ट्र जाने वाले थे तब तक पुलिस को पता चला गया और टक को पकड़ लिया। सभी मजदूरों का पहाडग़ढ़ अस्पताल में चेकअप के बाद होम क्वारंटाइन कराया गया है।

Ashok Sharma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned