मौसी की बेटी का कार्ड लगाने गए एक युवक की चंबल नदी में डूबकर मौत

भगेश्वरी घाट पर नदी में नहाने उतरा तो डूबा, तीन घंटे बाद मिला शव

गोठ (मुरैना). दिमनी थाना क्षेत्र के चंबल किनारे स्थित प्रसिद्ध भगेश्वरी मंदिर पर अपनी मौसी की बेटी की शादी का पहला कार्ड संत को देने गए एक युवक की चंबल नदी में डूबकर मौत हो गई। युवक अपने मौसा के साथ नहाने के लिए गया हुआ था। उसी समय वह गहरे पानी में चला गया। मौके पर पहुंची दिमनी पुलिस व रेस्क्यू टीम ने युवक के शव को दोपहर एक बजे नदी से बाहर निकाला।
जानकारी के मुताबिक रोरियापुरा रजौधा पोरसा निवासी रजत तोमर (18) पुत्र ओमवीर तोमर बुधवार की सुबह बाइक से मौसी गुड्डी को लेकर भगेश्वरी मंदिर पर संत को शादी का पहला कार्ड लगाने के लिए गया था। रजत के साथ उसका फूफा उपेन्द्र राठौर व मौसा राजू तोमर भी मंदिर पर दर्शनों के लिए गए थे। इसी बीच मौसा राजू तोमर के साथ रजत चंबल नदी में नहाने के लिए गया। भगेश्वरी घाट पर चंबल का जलस्तर बेहद कम है जिसे पैदल ही पार किया जा सकता है। ऐसे में रजत व राजू चंबल में पैदल नदी के बीच में बने रेत के टापू तक पहुंच गए। जहां उन्होंने नहाने का प्लान बनाया, लेकिन जैसे ही रजत नदी के अन्य हिस्सों की तरह कम जलस्तर समझकर पानी में उतरा वह सीधे ही गहरे पानी में चला गया। मौसा राजू के मुताबिक रजत एक बार पानी में जाने के बाद वापस दिखाई नहीं दिया। तुरंत ही पुलिस को सूचना दी गई। जिस पर दिमनी पुलिस व रेस्क्यू टीम ने बोट के जरिए रजत के शव को खोजना शुरू किया। दो से तीन घंटे की मशक्कत के बाद उसका शव मिल गया।
झरने की जगह नदी में नहाने का बनाया प्लान
चंबल किनारे स्थित प्रसिद्ध भगेश्वरी मंदिर पर सुंदर झरना बहता है जहां आमतौर पर लोग नहाते हैं, लेकिन रजत ने झरने की अपेक्षा नदी में जाकर नहाने का प्लान बनाया। इसके बाद नदी के बीच रेत के टापू तक पहुंचा। जहां गहरे पानी में डूबकर उसकी मौत हो गई। बताया जाता है इसी तरह कुछ वर्ष पूर्व पिकनिक मनाने गए पांच युवकों की इसी स्थान पर डूबकर मौत हो चुकी है। यहां रेत का दलदल बताया जाता है।

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned