प्रशासन ने लिया सख्ती करने का फैसला

यातायात की सुगमता के लिए समिति बैठक आयोजित

By: rishi jaiswal

Updated: 18 Dec 2020, 11:38 PM IST

मुरैना. शहर की बदहाल यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए एक बार फिर अभियान चलाने का निर्णय शुक्रवार को लिया गया है। पुलिस और नगर निगम मिलकर व्यवस्था बनाने की कोशिश करेंगे। कलेक्टर अनुराग वर्मा ने व्यवस्था सुधारने के लिए पुलिस को सख्ती बरतने को कहा है। पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया, नगर निगम आयुक्त अमरसत्य गुप्ता, आरटीओ रचना परिहार सहित अन्य अधिकारी इस बैठक में मौजूद रहे।

नवीन कलेक्टर कार्यालय भवन के सभाकक्ष में यातायात समिति की बैठक में यातायात सुधार के लिए एमएस रोड निशान बनाने को कहा गया है। इसके इसका उल्लंघन करने पर वाहनों को क्रेन से उठाया जाएगा। इसके लिए नगर निगम तीन माह के किराए पर क्रेन की व्यवस्था करेगा। पुलिस के साथ नगर निगम की टीम शहर में भ्रमण कर व्यवस्थाएं देखेगी। चौपाटी जीवाजी गंज में व्यवस्थित की जाएगी, लेकिन फिलहाल एमएस रोड की चौपाटी चलती रहेगी। एक सप्ताह बाद फिर से समीक्षा की जाएगी उसके बाद कुछ और कड़े कदम उठाने पर विचार किया जाएगा।

विद्युत खंभे एक सप्ताह में शिफ्ट होंंगे : पुल तिराहा, बैरियर चौराहा, बड़ोखर चौराहा पर निर्मित होने वाले जाम के हालात से निपटने के के लिए कलेक्टर ने बाधक बन रहे विद्युत खंभों को शीघ्र स्थानांतरित करने के निर्देश दिए। वहीं क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी से कहा कि ई-रिक्शों के लिए रूट तय करें और उन पर संचालन करवाएं। कलेक्टर ने बैरियर चौराहे पर पुलिस नियंत्रण कक्ष के पास स्थापित मंदिर को भी शिफ्ट कराने की बात कही।

पुलिस का प्रभाव दिखे शहर में लोगों को

एसपी सुजानिया ने कहा कि शहर में पुलिस का प्रभाव लोगों को दिखना चाहिए। कानून का उल्लंघन करने वालों पर सख्ती से पेश आएं। पहचान किए गए स्थानों पर यातायात व्यवस्था सुधारी जाए। शाम को घनी आबादी और ज्यादा यातायात दबाव वाले स्थानों पर पुलिस तैनात रहे और चालान की कार्रवाई करे। वाहन बाधक बनें तो क्रेन से उठवाएं। दुकानदारों को भी चेताया जाएगा कि वे बाहर सामन न रखें। पुलिस अधीक्षक हंसराज सिंह, नगर निगम कमिश्नर अमरसत्य गुप्ता, आरटीओ अर्चना परिहार, एसडीएम, सीएसपी प्रियंका मिश्रा मौजूद रहे।

ठेला कारोबारी जाएंगे हॉकर्स जोन में

शहर में हनुमान चौराहे के आसपास लगने वाले ठेलों को पास के ही हॉकर्स जॉन में शिफ्ट कराने के प्रबंध किए जाएंगे। यहां किसी भी प्रकार के चाट आदि के ठेले नहीं लगने दिए जाएंगे। इसके लिये निगम व पुलिस सख्ती बरतें। कलेक्टर ने कहा कि शहर में पड़ौसी जिलों से स्वयं के वाहन लेकर फुटपाथ पर सामग्री बेचने वालों निगम पहचान करे। चिह्नित स्थान पर ही उन्हें बैठने की अनुमति दी जाए। एमएस रोड पर डिवाइडर निर्माण का कार्य पूरा होने के बाद गुमटियोंं की पहचान कर उन्हें व्यवस्थित किया जाएगा।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned